मणिपुर में राहुल गांधी ने मोदी पर सादा निशाना

एनएनआई 
मंगलवार को मणिपुर में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने ईस्ट इम्फाल में रैली को संबोधित किया. राहुल ने रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला, राहुल ने कहा कि पीएम ने 2014 में दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे दिखाई लेकिन बाद में गब्बर सिंह निकला. मणिपुर में 4 और 8 मार्च को मतदान होगा.

इंफाल में बोले राहुल गांधी -

- मणिपुर के लोगों ने दुनिया को बहुत कुछ दिया, यहां के लोग नेचर की इज्जत करते हैं.

- मणिपुर: राहुल गांधी बोले - अमेरिका में भी मेड इन मणिपुर की शॉल बिके

- चुन-चुन कर युवाओं को ढूंढकर सहायता करेंगे

- पीएम ने स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी का वादा नहीं निभाया

- पीएम बातें बहुत करते हैं, तीन साल से नेशनल हाइवे तैयार नहीं हुआ, 100 दिन की बात हुई थी.

- मणिपुर ने प्रीपेड इलेक्ट्रसिटी का मॉडल है, पूरी दुनिया में इसकी तारीफ हुई. इससे पीएम मोदी के दिमाग में कंफ्यूजन आया.

- कुछ महीने पहले सोनिया जी ने मुझे फोन कर कहा कि पहली बार पीएम मोदी ने मुझे फोन किया और कहा कि मैंने ऐतिहासिक काम किया है और कहा कि हमनें नागा अकोर्ड किया है.

- लेकिन इस बारे में राज्य के मुख्यमंत्री को नहीं बताया, यहां तक के पीएम मोदी के मंत्रियों को भी नहीं पता था. लेकिन किसी को इस फैसले का पता नहीं लगा.

-2014 में पीएम मोदी ने सभी अच्छे दिन की दिल वाले दुल्हनिया पिक्चर दिखाई, लेकिन बाद में गब्बर सिंह की निकल कर आया.

- 2014 में पीएम मोदी ने सभी अच्छे दिन की दिल वाले दुल्हनिया पिक्चर दिखाई, लेकिन बाद में गब्बर सिंह की निकल कर आया.

- एक दिन एक आइडिया आया और 500-1000 के नोट बंद कर दिये और हंस दिए हा..हा.. हा..

- सोना, स्विस बैंक के पीछे नहीं गये लेकिन आम आदमी को लाइन में लगा दिया. बैंक के बाहर लाइनों में कोई भी अमीर नहीं खड़ा था.

- 22 नवंबर 2014 को सहारा पर रेड हुई, इनकम टैक्स ने कागजों में आई एंट्री में 30 अक्टूबर को 2 करोड़ रुपये दिये.

- इसके बाद बिरला के कागजों पर भी गुजरात सीएम का नाम आया, और पीएम मोदी इबोबी सिंह पर सवाल उठाते हैं. लेकिन इनके खिलाफ एक भी सबूत नहीं है.

- 15 लाख रुपये, स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी की बात की लेकिन कुछ नहीं मिला, जहां भी जाते हैं नफरत फैलाते हैं पीएम मोदी, झूठे वादे करते हैं.

- मैं चाहता हूं कि आने वाले समय में ओलंपिक में मणिपुर 5 मेडल लाये.

- इस प्रदेश को नागपुर की विचारधारा नहीं चला सकती, यहां मणिपुर की विचारधारा ही चलेगी.

- पीएम अगली बार यहां आयें तो उनसे एक सवाल पूछना कि मणिपुर के लिए आपने क्या किया.