हिमाचल में शातिर भु माफिया ने निकाला 118 का तोड, कृषक बनना हुआ आसान


एनएनआई(हिमाचल प्रदेश) 

बाईट : योगेश शर्मा (आर टी आई  कार्यकर्ता )

बाईट : डी आर भाटिया (तहसीलदार )
एंकर -

नगरपरिषद के अंर्तगत स्थित भुमि का हुआ कृषि भुमि  के साथ किया गया तबादला
 हिमाचल सरकार द्वारा बनाये गये नियम 118 को
ताक पर रखकर गैर कृषक भुमि को कृषि भुमि के साथ तबादला होने का मामला सामने आया है जानकारी के अनुसार नगर परिषद के अंर्तगत मौजा उप मुहाल नया
नालागढ, हदबस्त नम्बर 139/2 रकवा 80 वर्ग मीटर गैर कृषक भुमि का तबादला
ग्राम पंचायत किरपाल के मौजा गागुवाल, हदबस्त 122, में स्थित खसरा नम्बर
38/15 कृषक भुमि के साथ कर दिया गया। जो कि कृषक भुमि की परिभाषा में आती
है जो कि  हिमाचल सरकार द्वारा बनाए गए नियम 118 के साथ अनदेखी कर गैर
कृषक को कृषक बनाया गया। 
बाईट -इसका खुलासा आरटीआई कार्यकता योगेश शर्मा द्वारा
किया गया और उन्होने इसकी शिकायत एसडीएम नालागढ से की है योगेश ने जानकारी देते हुए कहा कि उन्हे नालागढ़ तहसीलदार कार्यलय कुछ रसूकदार लोगों और प्रोपर्टी डिलरों व नालागढ़ में तैनातअधिकारियों की मिलीभगत से ऐसे गैर कानूनी कार्य को अमली जामा पहनाया जाता
है जिससे हिमाचल प्रदेश सरकार को राजस्व का नुकसान होता है व गैर कृषक
व्यक्तियों को गैर कानूनी तरीके से कृषक बनाकर हिमाचल में कहीं पर भी
कृषक भुमि खरीद सकता है उन्होने प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कि उन्हे अंदेशा है यह कुछ लाभ लेकर इसे अंजाम दिया गया है जिसकी शिकायत लिखित रूप में एसडीएम नालागढ की दी है
तहसीलदार नालागढ़ देवराज भाटिया ने बताया कि इस तरह की हमारे पास कोई
लिखित शिकायत नहीं आई लेकिन उन्होने इस मामले पर कहा कि सरकार द्वारा ऐसा
कोई नियम नहीं बनाया गया है जिसके  तहत गैर कृषक भुमि का तबादला गैर कृषक भुमि के साथ हो सके। अगर ऐसा कोई मामला है तो वह हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा बनाये गये नियम 118 की उलघंना है जब उनके पास कोई शिकायत मिलती है