अलीगढ़:--आयुक्त अलीगढ मण्डल सुभाष चन्द शर्मा ने आज कमिश्नरी सभागार में मण्डलीय विकास एवं राजस्व कार्यो तथा कानून एवं शान्ति व्यवस्था की मासिक प्रगति समीक्षा बैठक की

अलीगढ । आयुक्त अलीगढ मण्डल सुभाष चन्द शर्मा ने आज कमिश्नरी सभागार में मण्डलीय विकास एवं राजस्व कार्यो तथा कानून एवं शान्ति व्यवस्था की मासिक प्रगति समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुये प्रदेश की वर्तमान लोकप्रिय सरकार की मंशानुरूप नवीन कार्यसंस्कृति विकसित कर लोकसेवकों की भांति शासन की मंशानुरूप कार्य करते हुये जनशिकायतों के प्रति संवेदनशील दृष्टिकोण अपनाकर आमजन की प्रभावी जनसुनवाई हेतु प्रातः 9 बजे से कार्यालय में उपस्थित रहते हुये कैम्प आफिसों से कार्य करने की प्रथा को समाप्त करने के अधिकारियों को निर्देश दिये। उन्होंने सचेत किया कि माननीय मुख्यमंत्री जी का अलीगढ भ्रमण कभी भी सम्भावित है अतः अधिकारीगण विकास प्राथमिकता कार्यो की प्रगति , गुणवत्ता व समयबद्धता पर विशेष ध्यान दें अन्यथा परिणाम भुगतने हेतु तैयार रहें।

मण्डलायुक्त ने राजस्व कार्यो की समीक्षा करते हुये शासकीय जमीनों पर अवैध कब्जाधारियों के विरूद्ध विशेष अभियान चलाकर शासकीय जमीनों को अवैध कब्जाधारियों से मुक्त करने तथा भू-माफियाओं द्वारा जब्त की कई सम्पत्तियों को चिन्हित कराकर मुक्त कराने हेतु भू-माफिया टास्क फोर्स का गठन करने के जिलाधिकारियों को निर्देश दिये। आयुक्त ने एंटी भू-माफिया टास्क फोर्स स्थापित कर भू-माफियाओं के विरूद्ध कार्यवाही हेतु विभिन्न विभागों तथा इनकी अधिकारिता में आने वाले सरकारी एवं अर्द्धसरकारी निकाय , प्राधिकरण , निगम , उपक्रम तथा ग्राम पंचायतों की भूमि पर अवैध कब्जों को हटाये जाने हेतु शासकीय भूमियों एवं सम्पत्तियों का चिन्हीकरण कराने के जिलाधिकारियों को निर्देश दिये। उन्होंने 5 वर्ष से अधिक पुराने राजस्व वादो के त्वरित निस्तारण हेतु एैसे वादो को चिन्हित करके 31 जुलाई2017 तक विशेष अभियान चलाते हुये दिन-प्रतिदिन सुनवाई कराते हुये उनका निस्तारण सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिये। आयुक्त ने राजस्व न्यायालयों का शत-प्रतिशत कम्प्यूटरीकरण सुनिश्चित कराते हुये भू-मानचित्रों को सुरक्षित करने एवं आम जनता को सुगमता से उपलब्ध कराने हेतु खतौनी एवं नक्शों का डिजिटाईजेशन कराये जाने के निर्देश दिये।

आयुक्त ने मण्डल के सरकारी विभागों पर 320करोड रूपये के विद्युत बकाये पर गहरा रोष प्रकट करते हुये एक्सईएन विद्युत की कार्यप्रणाली पर नाराजगी प्रकट की तथा अभियान चलाकर सरकारी विभागों से विद्युत देयो की वसूली सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। उन्होंने पेट्रोल पम्पों पर घटतौली एवं चिप पाये जाने की शिकायतों की जॉच करके एैसे पेट्रोल पम्पों को सील करने की कार्यवाही करने तथा केवल घटतौली पाये जाने पर कम्पाउडिंग कार्यवाही करने के निर्देश दिये ताकि पेट्रोल की किल्लत न हो।

कमिश्नर ने विकास कार्यो की प्रगति समीक्षा करते हुये आगामी 15 जून तक मण्डल की सभी सडकों को गढ्ढामुक्त किये जाने हेतु ई-टेण्डरिंग प्रक्रिया पूर्ण करने के पश्चात तत्काल कार्यो को प्रारम्भ कर समयबद्धता एवं क्वालिटी मापदण्डों के साथ गढ्ढामुक्त निर्माण कार्य पूर्ण करने के पीडब्लूडी अधिकारियों को निर्देश दिये। उन्होंने जेल फाटक सेतु एवं सर्किट हाउस का निर्माण प्रत्येक दशा में 30जून तक गुणवत्तायुक्त ढंग से पूर्ण कर इन परियोजनाओं का लोकार्पण कराने के कार्यदायी संस्थाओं को निर्देश दिये। आयुक्त ने प्रधानमंत्री आवास योजना का पुनः डिमाण्ड सर्वे कराये जाने के पीओ डूडा को तथा स्वच्छ भारत मिशन अन्तर्गत सॉलिड वेस्ट मेनेजमेन्ट स्कीम हेतु प्राप्त धनराशि का सदुपयोग सुनिश्चित करने तथा स्वच्छता अभियान को व्यापक स्तर पर चलाये जाने के नगर आयुक्त को निर्देश दिये। कमिश्नर ने मण्डल में गेंहू खरीद प्रगति की समीक्षा करते हुये 295 क्रय केन्द्रों के माध्यम से 3.80 लाख मेट्रिक टन के सापेक्ष 81 हजार मैट्रिक टन की 21.33 प्रतिशत ही प्रगति पर गहरा असंतोष प्रकट करते हुये आरएफसी अशोक कुमार एवं आरएमओ नरेन्द्र मलिक को गेंहू खरीद में अपेक्षित सुधार करने के सख्त निर्देश देते हुये लापरवाह क्रय केन्द्र प्रभारियों को सस्पेण्ड करने तथा असहयोग करने वाले एफसीआई डिपो मैनेजरों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराने के जिलाधिकारियों को निर्देश दिये। उन्होंने स्पष्ट चेतावनी दी कि गेंहू क्रय केन्द्रों पर किसी भी प्रकार की अव्यवस्था बर्दाश्त नहीं की जायेगी तथा किसानों को क्वालिटी के नाम पर अनावश्यक परेशान करने वाले दोषियों को जेल भेजने में भी हिचकिचाहट नहीं की जायेगी।

कमिश्नर ने मुख्यमंत्री जी के विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों की समीक्षा में पाया कि यद्यपि मण्डल का प्रदेश में द्वितीय स्थान है परन्तु एटा को छटा , हाथरस को आठवां ,कासगंज को नवां एवं अलीगढ जिले को ग्यारहवां स्थान प्राप्त हुआ है। कमिश्नर ने अलीगढ मण्डल को विद्युत संयोजन में ’’सी’’ श्रेणी तथा राष्ट्रीय कृषि विकास योजना ,एनआरएचएम के अन्तर्गत जिला अस्पताल निर्माण तथा कुक्कुट विकास नीति के क्रियान्वयन में ’’डी’’ श्रेणियां प्राप्त होने पर गहरी नाराजगी प्रकट करते हुये कृषि , स्वास्थ्य एवं पशुपालन विभाग के अधिकारियों को सुधारात्मक कार्यवाही के कडे निर्देश दिये। आयुक्त ने सभी मुख्य विकास अधिकारियों को सभी संचालित परियोजनाओं को हरहाल में निर्धारित समयसीमा में पूर्ण करने तथा आवंटित धन का सदुपयोग सुनिश्चित कराने हेतु स्थलीय निरीक्षण करने के निर्देश दिये ताकि परियोजनाओं के खर्च का वैरिफिकेशन किया जा सके।

मण्डलीय कानून व्यवस्था की समीक्षा करते हुये आयुक्त ने पुलिस अधीक्षकों को यह सुनिश्चिवत करने को कहा कि पुलिस अपनी कार्यप्रणाली और व्यवहार में परिवर्तन लाये , जिससे जनता को सुरक्षा महसूस हो और समाज में शान्ति का वातावरण कायम रहे। उन्होंने पुलिस थानों और यूपी 100 की कार्यप्रणाली को और चुस्त-दुरस्त बनाने की आवश्यकता पर बल देते हुये निर्देश दिये कि पुलिस व्यावहारिक एवं प्रभावी कार्ययोजना बनाकर अच्छी पुलिसिंग की दिशा में कार्य करना सुनिश्चित करे। आयुक्त ने कहा कि कारागारों में मोबाईल फोन जैमर की फूलप्रूफ व्यवस्था सुनिश्चित करने हेतु प्राथमिकता से कार्यवाही की जाये तथा महिला उत्पीडन और एसिड अटैक जैसी घटनाओं पर शीघ्रता से कार्यवाही की जाये। कमिश्नर ने सभी डीएम एवं एसएसपी को निर्देश दिये कि तहसील व थाना दिवसों में इस प्रकार जनसमस्याओं का निस्तारण सुनिश्ति किया जाये कि तहसील व थाना दिवस ’’पूर्ण समाधान दिवस’’ के रूप में विकसित होकर और अधिक जनउपयोगी बन सकें। आयुक्त ने जुलूसों के निर्धारित रूटों के अलावा कोई नई परम्परा न पडने देने तथा बिना दबाव के सही कार्य करने के भी निर्देष दिये।

बैठक में उप महानिरीक्षक पुलिस आ0पी0एस0यादव , जिलाधिकारी अलीगढ हृषिकेश भास्कर यशोद ,डीएम एटा अमित किशोर , डीएम हाथरस अमित सिंह ,डीएम कासगंज राजेन्द्र प्रताप सिंह  , एसएसपी अलीगढ राजेश कुमार पाण्डेय , अपर आयुक्त प्रशासन फैसल आफताब , अपर आयुक्त न्यायिक वी0 के0 सिंह , जेडीसी हरिशंकर सिंह , एडीएम सिटी एसबी सिंह , सीडीओ अलीगढ डीएस सचान , नगर आयुक्त संतोष शर्मा , एडीएम फाईनेन्स बच्चू सिंह , एडीएम प्रशासन आर0एन0 शर्मा , वन संरक्षक ई0 प्रभाकर , आरटीओ विक्रम सिंह , उप निदेशक संख्या रजनीश सहित मण्डल के सभी पुलिस अधीक्षक ,मुख्य विकास अधिकारी एवं मण्डलीय अधिकारी उपस्थित थे।