चीन और भारत के बीच संघर्ष अभी और बढ़ेगा :अमेरिकी कांग्रेस की रिपोर्ट

वॉशिंगटन. भारत-चीन के बीच बॉर्डर को लेकर कई एरिया में विवाद हो चुका है। डोकलाम के बाद लद्दाख और चमोली में भी चीनी सैनिकों ने घुसपैठ की कोशिश की। लेकिन, भारतीय सैनिकों ने ड्रैगन के मंसूबों को सफल नहीं होने दिया है। इस बीच अमेरिकी कांग्रेस की ओर से एक रिपोर्ट पेश की गई है। इसमें कहा गया है कि चीन और भारत के बीच संघर्ष अभी और बढ़ेगा।

रिसर्च में और क्या  कहा गया

- शोध में कहा गया कि दोनों देशों के बीच संघर्ष बढ़ने से अमेरिका-भारत के बीच के रिश्तों में मजबूती आएगी।

- अमेरिकी कांग्रेस की रिपोर्ट में कहा गया है कि दोनों देशों के बीच के विवाद से अमेरिका-भारत के सामरिक सहयोग बढ़ेगा।

- स्वतंत्र और द्विदलीय कांग्रेसनल रिसर्च सर्विस (सीआरएस) की दो पन्नों की रिपोर्ट सामने आई है।

- सीआरएस ने अपनी रिपोर्ट में कहा गया कि तनाव तेज होने से संघर्ष के खुलकर बढ़ने की आशंका है। 

- कांग्रेस के सामने यह मुद्दा है कि ट्रम्प प्रशासन को एक रणनीति तैयार करने और इस सामरिक घटनाक्रम पर रिपोर्ट करने को कहा जाए या नहीं।

अमेरिकी कांग्रेस की स्वतंत्र शोध इकाई है सीआरएस

- सीआरएस अमेरिकी कांग्रेस की एक स्वतंत्र शोध इकाई है।

- इसका काम अपने हितों के मुद्दों पर सांसदों के लिए रिपोर्ट और नीतिगत दस्तावेज तैयार करना है।

- इसकी रिपोर्ट को अमेरिकी कांग्रेस का आधिकारिक रुख नहीं समझा जाता है। 

- यह रिपोर्ट गैर लाभकारी संगठन ‘फेडरेशन ऑफ अमेरिकन साइंटिस्ट’ ने जारी की है।