जाने क्यों 16 साल की इस मुस्लिम लड़की ने किया हिंदू धर्म अपनाने का ऐलान

गाजियाबाद. जिले में एक नाबालिग मुस्लिम लड़की हिंदू धर्म अपनाने का ऐलान कर दिया। 16 वर्षीय किशोरी ने बताया कि उसकी मां और समाज के अन्य लोग उसकी शादी एक 50 साल के अधेड़ के साथ करवाना चाहते है। जिसके बाद किशोरी घर से फरार हो कर शिवसेना के शरण में चली गई है। 

क्या है मामला 

-राजनगर की रहने वाली किशोरी के मुताबिक वह तलाक और हलाला जैसी कुप्रथा के दर्द से गुजरना नहीं चाहती है। 

-इसलिए वह धर्म परिवर्तन करने जा रही है।

-पीड़िता का कहना है कि वह अपनी मां की दर्द को बहुत करीब से देखा है कि कैसे वह तलाक के बाद घुट-घुट कर जीने को मजबूर है।

-उसने बताया कि जब मैं चार साल की थी, तब मेरे पिता ने मां को तलाक देकर घर से बाहर निकाल दिए थे। 

-जिसके बाद मेरी मां लोगों के घरों में काम करके मेरा भरण पोषण की। 

 

पढ़ाई करने के लिए छोड़ा धर्म 

-किशोरी का कहना है कि वह शादी नहीं करना चाहती। अभी वह पढ़ना चाहती है।

-इसलिए वह घर से भागकर 'जय शिवसेना' के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित आर्यन के शरण में आई है।

-किशोरी का कहना है कि उस पर 13 साल की उम्र से ही निकाह के लिए दबाव बनाया जा रहा है।

-परिवार वालों ने अधेड़ से कुछ पैसे भी लिए हैं। लेकिन अब वह हिंदू धर्म अपनाकर अपनी पढ़ाई पूरी करेगी।