पवित्र काबा में छत बनाने का लिया फैसला, अभी से होने लगा है विरोध

दुबईः इस्लाम धर्म के सबसे पवित्र स्थल मक्का समेत  कई महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों के ऐतिहासिक स्वरूप को बदलने के फैसले से अभी से सवाल उठने लगे हैं। सऊदी अरब सरकार मक्का स्थित पवित्र काबा में एक हटाई जा सकने वाली छत का निर्माण करने जा रही है। लोगों को चिंता सता रही है कि इस तरह के फैसले से इस्लाम धर्म के सबसे पवित्र स्थल का ऐतिहासिक स्वरूप नष्ट हो जाएगा।

हालांकि सऊदी अधिकारियों की तरफ से अभीतक इस बारे में कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। इसका एक विडियो जरूर सामने आया है जिसमें प्रस्तावित छत की कार्ययोजना को समझाया गया है।

इसके निर्माण के पीछे उद्देश्य यह है कि काबा जाने वाले तीर्थयात्रियों को रेतीली हवाओं और धूप के थपेड़ों से बचाया जाना बताया जा रहा है। मस्जिद के सुरक्षा बल के कमांडर मेजर जनरल मुहम्मद अल-अहमदी ने कहा था, यह निर्माण जल्द होने वाला है और इस छत का निर्माण 2019 तक पूरा होने की संभावना है।

इस पर अभी से सवाल उठने लगे है। इस्लाम के जानकार कहते हैं कि कोई काबा को किसी छत से ढक नहीं सकता क्योंकि मुस्लिमों का मानना है कि अल्लाह की रहमत आसमां से नीचे बरसती है।

पिछले 10 सालों में इस्लाम के सबसे पवित्र स्थल में बड़ी तब्दीली आ चुकी है। कभी मरुस्थल में स्थित मक्का में हज तीर्थयात्रियों की बढ़ते हुजूम से जूझता रहता था, वहीं अब इसके आस-पास आसमान छूती इमारतें, शॉपिंग मॉल्स और लग्जरी होटल्स की चकाचौंध दिखाई पड़ने लगी है।