निकाय चुनाव में दो नेताओं ने बेचे टिकट,मामला दर्ज हुआ तो बीजेपी जिलाध्यक्ष बोले-'पार्टी के...'

फर्रूखाबाद. निकाय चुनाव में बीजेपी की टिकट बेचने के मामले में दो नेताओं के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। प्रदेश का यह पहला मामला है। जब टिकट बेचने के मामले में सबूत मिलने पर भाजपा नेताओं के खिलाफ ठगी और जान से मारने की धमकी जैसे मामलों में मुकदमा लिखा गया है। वहीं भाजपा जिलाध्यक्ष ने आरोपी दोनों भाजपा नेताओं से किनारा कर लिया है और उन्हें पदाधिकारी मानने से भी इंकार कर दिया है। 

-दरअसल, फतेहगढ़ मंडल के तीन मंडलों में निकाय चुनाव के सभासदों ने बीजेपी के दो नेताओं पर टिकट बेचने और जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया था।

-यह नहीं उन्होंने एसपी से भी मामले की शिकायत दी थी। एसपी एसपी मृगेंद्र सिंह ने मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच के आदेश दिए। जिसके चलते फतेहगढ़ में भारतीय जनता युवा मोर्चा के जिला महामंत्री शशांक शेखर और फतेहगढ़ मंडल के उपाध्यक्ष अमन गुप्ता के खिलाफ धारा 406 और 506 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

 

पैसे नहीं दिए तो जान से मार देंगे

-बताया जा रहा है कि इन दोनों नेताओं ने वार्ड 12 से भाजपा की टिकट दिलाने के नाम पर सूरज मुखी बाथम के पुत्र जितेंद्र से 26 हजार रूपए वसूल लिए थे और बाकी रुपये न दिए जाने पर जान से मार देने की धमकी दी गई थी। 

-इससे जितेंद्र काफी घबरा गए और उन्होंने बीजेपी के इन नेताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए शिकायत दी थी।

क्या बोले भाजपा जिलाध्यक्ष

- भाजपा अध्यक्ष सत्यपाल सिंह ने दोनों पदाधिकारियों से किनारा कर लिया है। उन्होंने कहा है कि दोनों आरोपी लोग इस समय भाजपा के पदाधिकारी नहीं है।