पुलवामा एन्काउंटर खत्म, हेड कान्टेबिल का 17 साल का बेटा निकला आतंकी, राजनाथ बोले, व्यर्थ नहीं जाएगा बलिदान

नई दिल्लीः दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ कैम्प हमला करने वाले सभी तीन आतंकवादियों को मार गिराया गया। हमले में पांच जवानों के शहीद होने के एक दिन बाद पाकिस्तान स्थिति आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने एक वीडियो जारी किया है। इस वीडियो में एक आतंकी दिखाई दे रहा है जो कश्मीर युवा से जंग छेड़ने की अपील कर रहा है।

राइफल्स और गोला बारुद साथ लेकर बैठे सेवारत पुलिस ऑफिसर के 17 वर्षीय बेटे फरदीन अहमद खांडेय इस वीडियो में यह बोल रहा है- “जिस वक्त यह वीडियो रिलीज किया जाएगा मैं हो सकता है स्वर्ग पहुंच चुका होऊंगा।”

करीब तीन महीने तक आतंकी संगठन से जुड़ने के बाद फरदीन रविवार को सीआरपीएफ कैंप पर हमले के दौरान मारा गया।

दक्षिणी कश्मीर के त्राल का रहनेवाला फरदीन इस वीडियो में उर्दू में बोलता हुआ दिखाई दे रहा है और कह रहा है कि कश्मीर में आतंकवाद बेरोजगारी के चलते नहीं बल्कि बढ़ी है जैसा भारत की तरफ से पेश किया जा रहा है।

गौरतलब है कि फरदीन जम्मू कश्मीर में हेड कांस्टेबल गुलाम मोईउद्दीन खांडेय का बेटा है जो 15 सितंबर 2017 को अचानक गायब हो गया था।

करीब एक महीने के बाद फरदीन की तस्वीर सोशल मीडिया पर एके-47 रायफल के साथ वायरल हुई थी। 

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ कैम्प पर हमला करने वाले तीन आतंकी मारे गए हैं। अब तक दो आतंकियों के शवों को कब्जें में लिया जा चुका है बल्कि तीसरे आतंकी के शव की तलाश जारी है। 

इस हमले में शामिल दोनों आतेकियों की पहचान हो गई है और यह दोनों जम्मू-कश्मीर के ही रहने वाले थे। आतंकियों की पहचान मंजूर अहमद ऊर्फ बाबा और फरदीन अहमद खांडे के रूप में हुई है। आतंकी बाबा पुलवामा का ही रहने वाला था जबकि खांडे त्राल से था। 

फरदीन की उम्र मात्र 17 साल की थी। वह दसवीं का छात्र था। खबरों के अनुसार खांडे महज तीन महीने पहले ही आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से जुड़ा था।

उधर, केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि जवानों का बलिदान खाली नहीं जाएगा। जवानों की शहादत पर देश को गर्व है। पूरा देश जवानों के परिवार के साथ खड़ा है।