गेंदबाज मोहम्मद शमी ने ऐसा क्या किया कि हिन्दू और मुसलमान-दोनों खफा हो गए

देवबंदः टीम इंडिया के मध्यम गति के गेंदबाज मोहम्मद शमी ने ऐसा क्या कर दिया कि न सिर्फ हिन्दू संगठनों के लोग भड़क गए, बल्कि देवबंद के मौलानाओं ने भी इसे गलत करार दिया। हिन्दू संगठनों के लोगों ने मोहम्मद शमी को टीम इंडिया से बाहर करने की मांग उठाते हुए उसके खिलाफ सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन किया जाएगा। 

दरअसल, क्रिकेटर शमी ने शिवलिंग पर 2018 बनाकर नये साल पर ट्वीट किया। जिस पर हिन्दू संगठनों के लोग भड़क गए है। देवबंद के बीजेपी नगर अध्यक्ष गजराज राणा पहली बात तो यह हिंदुओं का नया साल नहीं है, दूसरी बात इस व्यक्ति का शौक बन गया है इसने हमारी धार्मिक भावनाओं को आहत करने का। हम लोग इसके खिलाफ सड़कों पर उतरेंगे। इसकी ईंट से ईंट बजा देंगे। 

जिस तरीके से यह व्यक्ति लगातार पोस्ट डाल रहा है हिंदुओं की भावनाओं के साथ खिलवाड़ कर रहा है इससे हमें भारी कष्ट पहुंचा है। हम सड़कों पर उतर कर इस क्रिकेटर का पुतला फूंकेंगे। 

उन्होंने कहा कि शमी को क्रिकेट टीम से उसे तुरंत बाहर किया जाना चाहिए, क्योंकि उसने हिंदुओं की भावनाओं को आहत किया है।

उधर, मदरसा जामिया हुसैनिया के मुफ्ती मौलाना तारीक कासमी का भी इसी तरह का बयान सामने आया है। मुफ्ती का कहना है कि हाल फिलहाल में दो-चार दिन पहले देवबंद के हिंदू धर्म गुरु पंडित सत्येंद्र शर्मा का भी बयान  आया था कि हैप्पी न्यू ईयर बनाना हिंदुओं में भी जायज नहीं है और मजहब ए इस्लाम तो इस बात की इजाजत ही नहीं देता। दूसरी बात यह है कि शिवलिंग के ऊपर हैप्पी न्यू ईयर बनाकर मुबारकबाद देना एक किस्म की नौटंकी है और दूसरे मजहब के लोगों की आस्था को ठेस पहुंचाना है इस पर जहां तक हो सके बचना चाहिए। उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान अमन और शांति का मुल्क है यहां पर सभी धर्मों के लोग प्यार मोहब्बत से रहते हैं। इस तरह की हरकतें प्यार मोहब्बत को खत्म करती है।