मुलायम सिंह के गृहक्षेत्र सैफई में कर्ज से दबे किसान ने सल्फास खाकर दी जान

इटावाः किसानों की कर्जमाफी के नाम पर योगी सरकार कोरी वाहवाही लूटने का काम कर रही है। जमीनी हकीकत कुछ और ही है। कर्जे से परेशान किसान अब आत्महत्या करने लगे हैं। ऐसा ही कदम उठाया यहां के एक किसान ने। बैंक के  कर्जे से परेशान किसान ने अपने खेत मंे जाकर जहर खाकर आत्महत्या कर ली।

सैफई थाना क्षेत्र के चित्तरपुरा गांव में बैंक के कर्जे से परेशान किसान ने शुक्रवार को अपने खेत मे जाकर सल्फास की गोली खाकर मौत को गले लगा लिया। पुलिस ने शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है ।

चित्तरपुरा गांव निवासी किसान जयवीर सिंह यादव पर स्टेट बैंक और यूनियन बैंक समेत तीन बैंकों से    खेती के नाम पर कर्ज था जिसे चुकाने के लिए बैंक अधिकारी किसान पर लगातार दबाव बना रहे थे और किसान की बेटी भी शादी लायक हो गयी थीं।

किसान कर्ज को चुकाने की चिंता को लेकर परेशान रहता था और प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के किये गए ऋण मोचन योजना के तहत भी किसान जयवीर का ऋण माफ नहीं हुआ था। इसी चिंता और बैंक अधिकारियों के दवाव से परेशान किसान जयवीर ने आज अपने खेत पर जाकर सल्फास की गोली खाकर अपनी जीवन लीला को समाप्त कर लिया।

जयवीर के चचेरे भाई सौरभ ने बताया कि किसान जयवीर ने पिछली साल आलू की खेती के लिए बैंक से कर्ज लिया था लेकिन आलू का उचित मूल्य न मिलने के कारण किसान को काफी नुकसान उठाना पड़ा और बैंक के कर्ज में ब्याज दिनोदिन बढ़ता चला जा रहा था और प्रदेश सरकार द्वारा किसानों की कर्जमाफी के नाम पर चलाई गई ऋण मोचन योजना में भी किसान जयवीर को कोई राहत नहीं मिली जिसके बाद से जयवीर कर्ज को लेकर परेशान रहने लगा था। 

इस मामले में एएसपी जितेंद्र कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि फोरेंसिक टीम ने जांच की है और मौके से बरामद सल्फास की गोलियों को लैब भेज दिया गया है।