उत्तरांखड में बकरी स्वयंवर को लेकर दो मंत्रियों की जंग में कूदे एक और मंत्री, देखें किसने क्या कहा

नैनीतालः उत्तराखंड में बकरी स्वयंवर पर सतपाल महाराज और रेखा आर्य के बीच छिड़ी जंग में एक और मंत्री कूद पड़े हैं। मंत्री हरक सिंह रावत ने बकरी स्वयंवर को लेकर सतपाल महाराज के विरोध का समर्थन किया है।

राज्य में पशुपालन मंत्री रेखा आर्य ने अगले महीने बकरी स्वंयवर कराने का ऐलान किया। पशुपालन मंत्री ने कार्यक्रम को रोचक बनाने के लिए उन्होंने मंत्रोच्चार के साथ बकरियों का स्वयंवर करवाने का ऐलान किया।

लेकिन यह बात राज्य के संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज को चुभ गई। उन्होंने मंत्रोच्चार के साथ बकरियों के स्वयंवर को संस्कृति से खेल बताया और कहा कि मंत्रोच्चार के साथ बकरियों का स्वयंवर करवाना अनैतिक है।

राज्य के एक और ताकतवर मंत्री हरक सिंह रावत भी सतपाल महाराज के समर्थन में उतर गए हैं। उन्होंने कहा कि पहाड़ की परम्परा और रीति रिवाजों के अनुसार ही कार्य होना चाहिए और उसके अनुसार ही कोई कार्य किया जाना चाहिए।

नैनीताल पहुंचे प्रदेश के वन मंत्री हरक सिह ने कंडी मार्ग निर्माण के मामले में बोलते हुए कहा कि यह मार्ग ना केवल कुमाऊं गढ़वाल को जोड़ने के साथ साथ कॉर्बेट के वन्य जीव जंतुओं को बचाने के लिए अपना महत्वपूर्ण योगदान देगा। जिसके लिए राज्य सरकार द्वारा वाइल्डलाइफ इंस्टिट्यूट देहरादून से पूर्व में बात की जा चुकी है।

जिससे इस मार्ग के निर्माण से वन्य जीव जंतुओं को कोई नुकसान नहीं हो सके। वही कंडी मार्ग हिंदुस्तान की सबसे पहली ग्रीन रोड होगी जिससे कॉर्बेट के जीव जंतुओं की सुरक्षा के लिए सर्वेलांस सिस्टम लगाए जाएंगे।