अयोध्या विवाद : मस्जिद बाहर शिफ्ट करने का सुझाव देने वाले सलमान नदवी को AIPMLB से निकाला गया

नई दिल्ली. अयोध्या विवाद पर बयान देने वाले मौलाना सलमान नदवी को रविवार को ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड से निकाल दिया गया।  बता दें कि 8 फरवरी को सलमान नदवी ने आर्ट ऑफ लिविंग के श्री श्री रविशंकर से मुलाकात की थी। इस दौरान उन्होंने राम मंदिर निर्माण का समर्थन किया था और मस्जिद को दूसरी जगह शिफ्ट करने का फॉर्मूला सुझाया था। जिसे लेकर बोर्ड ने नाराजगी जताई है। 

-दरअसल, हैदराबाद में मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की तीन दिवसीय बैठक हो रही है। इस बैठक में रविवार को यह फैसला लिया गया। 

-बैठक दो कार्यकारिणी सदस्यों कमाल फारूकी और डॉ.कासिम रसूल इलियास ने मौलाना नदवी का विरोध किया। 

-उन्होंने कहा कि नदवी की बेंगलुरु में श्री श्री रविशंकर से मुलाकात और अयोध्या के विवादित स्थल से दूर मस्जिद के निर्माण की वकालत वाला बयान अनुशासनहीनता है। अन्य सदस्यों ने भी मांग पर सहमति जताई।

-इसके बाद बोर्ड नेतृत्व ने चार सदस्यीय कमेटी गठित की थी। इसे लेकर शनिवार को कमेटी की बैठक में अनुशासनहीनता पर रिपोर्ट तैयार की गई। 

-मौलाना सलमान नदवी ऑल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के गठन के बाद से ही उसके सदस्य हैं। 

 

नदवी ने कहा पीछे नहीं हटेंगे

-मौलाना सलमान नदवी ने कहा कि बोर्ड निकालना चाहता है तो निकाल दे, मगर अयोध्या विवाद को वार्ता से सुलझाने के लिए चलाई गई अपनी मुहिम से वह पीछे नहीं हटेंगे।

 

20 फरवरी को होगी बैठक 

-बता दें कि इस मसले को कोर्ट के बाहर सुलझाने के लिए सभी संबंधित पक्षों, संत समाज और मुस्लिम विद्वानों की बैठक अब 20 फरवरी को होगी।