नई दिल्ली (NNI Live) :- मशहूर शायर राहत इंदौरी का 70 साल की उम्र में मंगलवार को निधन हो गया। राहत इंदौरी मशहूर शायर होने के साथ अच्छे लिरिक्स राइटर भी थे। उन्होंने कई बॉलीवुड फिल्म के गाने भी लिखे थे। 10 अगस्त को तबियत खराब होने के बाद उन्हें इंदौर के अरबिंदो अस्पताल में भर्ती किया गया था, जहां उनका कोरोना टेस्ट किया गया और वह कोरोना संक्रमित पाए गए थे। राहत इंदौरी पहले से शुगर और हार्ट सबंधित बिमारियों से भी जूझ रहे थे। 11 अगस्त को दिल का दौरा पड़ने से अरबिंदो अस्पताल में उनका निधन हो गया।

उनके निधन से पूरे देश में शोक की लहर है। राहत इंदौरी राजनितिक अव्यवस्था पर अपनी शायरी से कड़ा प्रहार करते थे और अपनी बातों को बेबाकी के साथ-साथ शानदार अंदाज में पेश करते थे। राहत इंदौरी ने बॉलीवुड के कई फिल्मों के मशहूर गानों की लिरिक्स लिखी थी, जिसमें फिल्म ‘घातक’ का गाना ‘कोई जाए तो ले जाए’, फिल्म ‘इश्क’ का ‘नींद चुराई मेरी’और ‘देखो-देखो जानम’, फिल्म ‘खुदार’ का गाना ‘तुमसा कोई प्यारा कोई’ आदि शामिल हैं।

राहत इंदौरी की शायरी और गजले दर्शकों के बीच काफी पसंद की जाती थी। उन्होंने किताबे भी लिखी है, जिसमें नाराज, मौजूद, चांद पागल है, धुप बहुत है, मेरे बाद आदि शामिल हैं। राहत इंदौरी युवा वर्ग के बीच काफी पसंद किए जाते थे। आज उनके निधन के साथ ही देश ने एक अनमोल हीरा खो दिया।