लॉस एंजेल्स (NNI Live) :- राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में कमला हैरिस का नाम आते ही कैलिफ़ोर्नियाई सिनेटर को नकचढ़ी और बदतमीज़ आदि उपनाम देकर तीन नवंबर को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव अभियान के अंतिम पड़ाव को और ज़्यादा चुटीला बना दिया है। ट्रम्प का इशारा प्राइमरी के दौरान कमला हैरिस की ओर से राष्ट्रपति पद के डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जोई बाइडन को नस्लीय बताया जाना है।

मीडिया के अनुसार डेमोक्रेट कमला हैरिस एक निर्भीक योद्धा के रूप में रिपब्लिकन के लिए चुनौती सिद्ध हो सकती हैं। वह अपने सीधे और चुटीले सवालों के लिए विख्यात है। कैलिफ़ोर्निया स्टेट की एक पूर्व अटार्नी जनरल और पिछले चार सालों से डेमोक्रेट सिनेटर तथा सीनेट की इंटेलीजेंस तथा न्यायिक समिति के सदस्य के रूप में कमला हैरिस ने अपने तीखे सवालों से ट्रम्प प्रशासन के अटार्नी जनरल विलियम बार्र और जस्टिस ब्रेट कावनाह को कटघरे में खड़ा करने में कभी क़ोताही नहीं बरती। अब जबकि  तेज़ तर्रार कमला हैरिस उपराष्ट्रपति पद की दौड़ में शामिल हो चुकी हैं, वह आने वाले महीने में टीवी पर सीधे डिबेट में रिपब्लिकन उपराष्ट्रपति माइक पेंस के लिए सिरदर्द बन सकती हैं।

एक निष्पक्ष मीडिया रिपोर्ट की माने तो कमला हैरिस एक बड़े राज्य कैलिफ़ोर्निया की सफल अटार्नी जनरल रही हैं। वह एक अश्वेत अफ़्रीकी अमेरिकी और फिर एशियाई अमेरिकी के रूप में एक बड़े मतदाता वर्ग का प्रतिनिधित्व करते हुए बाइडन की मददगार हो सकती हैं। कमला हैरिस  मूलत: हॉलीवुड सिने अभिनेताओं में अत्यधिक लोकप्रिय हैं। बाइडन पिछले एक महीने से अपने सहयोगी के रूप में उपराष्ट्रपति पद के लिए वीडियो काँफ्रेंसिंग से संभावित उम्मीदवारों से बातचीत कर रहे थे। इसमें एक बात उभर कर आ रही थी कि इस पद के लिए महिला और वह भी अश्वेत अर्थात अफ़्रीकी-अमेरिकी के चयन को प्राथमिकता देना चाहते थे। इसका कारण हाल ही में मिनिया पोलिस में एक निहत्थे अश्वेत अफ़्रीकी अमेरिकी का पुलिस के हाथों  बीच सड़क में मारा जाना और फिर उस कथित हत्या का एक जन आंदोलन की शक्ल लेना था।

इस संदर्भ में प्रथम अश्वेत पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा की अश्वेत उपराष्ट्रपति के रूप में पहल का बिगुल बजाना भी एक कारण रहा है। हालांकि संभावित अश्वेत अफ़्रीकी अमेरिकी महिलाओं में सिनेटर कमला हैरिस और पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार सुसान राइस के अलावा और कोई विकल्प नहीं बचे थे। यों जोई बाइडन के विरुद्ध राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारों में श्वेत महिलाओं में एलिज़ाबेथ वारेन और एमी क्लोबूचर के नाम बड़े और श्रेष्ठ थे। इन दोनों सिनेटर महिलाओं की मतदाताओं में पहुँच कमला हैरिस से कहीं ज़्यादा थी। ये दोनों महिलाएँ अंतिम प्राइमरी तक डटी रही थीं। बताया जाता है कि अफ़्रीकी अमेरिकी समुदाय ने बाइडन को पहले से स्पष्ट कर दिया था कि इस बार किसी अश्वेत महिला को उपराष्ट्रपति पद के लिए चयन नहीं किया गया तो यह समुदाय एकमुश्त बाइडन का विरोध कर सकते हैं।

डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जोई बाइडन ने बुधवार की दोपहर कमला  देवी हैरिस को अपने सहयोगी और उपराष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए नामित कर दिया। जोई बाइडन ने क़ामला के नाम पर मुहर लगाते हुए उनके बेबाक़ सवालों के कारण एक निर्भीक यौद्धा का नाम दे डाला।