देहरादून (NNI Live) :- उत्तराखंड में तेज बारिश और पर्वतीय क्षेत्रों में सड़कों पर मलबा आने से कई मार्ग अवरुद्ध हो गए हैं। इनमें चारधाम मार्ग भी है, जो कई स्थानों पर मलबा आने से अवरुद्ध हुआ है।

एक सरकारी सूत्र ने बताया कि जनपद पिथौरागढ़, चम्पावत, अल्मोड़ा, नैनीताल तथा ऊधम सिंह नगर में वर्षा हो रही है। शेष जनपदों बागेश्वर, चमोली, पौड़ी, टिहरी, उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, देहरादून और हरिद्वार में बादल छाए हुए हैं। चारधाम यात्रा मार्ग ऋषिकेश-बदरीनाथ मार्ग लामबगड़ तथा तोता घाटी में मलबा आने के कारण अवरुद्ध है। ऋषिकेश – श्री केदारनाथ मार्ग विद्यापीठ गुप्तकाशी के पास अवरुद्ध है। शेष चारधाम मार्ग यातायात हेतु खुले हैं।

जनपद चमोली में गोपेश्वर पोखरी मार्ग बंद है। चमोली एनएच लामबगड़, कर्णपयाग से 2-3 किलोमीटर आगे मार्ग बंद है। लिंक रोड- गोपेश्वर-पोखरी-हापला, मंडल-धोतीधार अवरुद्ध है। इसी तरह पिथौरागढ़ में मज कोट मुन्स्यारी मार्ग बंद है। जौलजीवी मजकोट चामी के पास, तवाघाट पांगला गसकू और मलघट के पास, तवाघाट सोबला कनजोती के पास, चौकीघाट पिथौरागढ़ की तरफ 500 मीटर आगे अवरुद्ध है। अस्कोट ओगल मार्ग पिनौरा के पास बंद है। जनपद पिथौरागढ़ -अस्कोट जौलजीवी मार्ग लखनपुर में बंद है।

जनपद अल्मोड़ा में अल्मोड़ा पिथौरागढ़ मार्ग में पनार से आगे मकड़ाऊ के पास मलबा आने से मार्ग अवरुद्ध हो गया है। टिहरी में एनएच-94 आमसेरा चंबा के पास पत्थर आने से अवरुद्ध हो गया है। जनपद चम्पावत में टनकपुर -चम्पावत मार्ग खुल गया है।

उधर, मौसम विभाग ने अगले दो दिनों तक उत्तराखंड के कई जनपदों में भारी से बहुत भारी बारिश होने का अनुमान व्यक्त किया है।