नई दिल्ली (NNI Live) :- भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्यतिथि पर राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री समेत तमाम नेताओं व केंद्रीय मंत्रियों ने राजघाट के समीप स्थित उनके समाधि स्थल ‘सदैव अटल’ जाकर पुष्पांजलि अर्पित की।

रविवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति एम. वैंकेया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाजपेयी की दूसरी पुण्यतिथि के अवसर पर उन्हें याद करते हुए उनकी समाधि पर पुष्प चढ़ा कर दिवंगत नेता को श्रद्धांजलि अर्पित की। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष जेपी नड्डा, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा महासचिव बीएल सन्तोष समेत तमाम नेताओं व केंद्रीय मंत्रियों ने वाजपेयी की समाधि पर पुष्प अर्पित किए। वाजपेयी की दत्तक पुत्री नमिता कौल भट्टाचार्या व उनकी पुत्री निहारिका ने भी पूर्व प्रधानमंत्री के समाधि पर पुष्पांजलि अर्पित की।

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने ट्वीट कर वाजपेयी को श्रद्धांजलि देते हुए कहा ‘ हमारी पीढ़ी के ओजस्वी वक्ता, अजातशत्रु, उदार लोकतांत्रिक मूल्यों के वाहक, शब्द शिल्पी, प्रखर राष्ट्रवादी कवि, कुशल प्रशासक, भारत के पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्यतिथि पर उनकी पावन स्मृति को श्रद्धा सुमन अर्पित करता हूं।’

मोदी ने इस अवसर पर वाजपेयी को याद करते हुए कहा ‘पुण्यतिथि पर प्यारे अटल जी को श्रद्धांजलि। भारत हमेशा उनकी उत्कृष्ट सेवा और हमारे राष्ट्र की प्रगति के प्रयासों को याद रखेगा।’

गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर कहा ‘आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार अटल जी के विचारों को केंद्र में रखकर सुशासन व गरीब कल्याण के मार्ग पर अग्रसर है और भारत को विश्व में एक महाशक्ति बनाने के लिए कटिबद्ध है। श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी की पुण्यतिथि पर उन्हें कोटि-कोटि वंदन।’

उल्लेखनीय है कि वाजपेयी का निधन 16 अगस्त 2018 को लंबी बीमारी के बाद अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में हो गया था। वह तीन बार देश के प्रधानमंत्री रहे। क्रमशः वर्ष 1996 में 13 दिन, 1998 से 1999 तक 13 माह और 1999 से 2004 तक प्रधानमंत्री रहे। वर्ष 2015में उन्हें देश का सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया। तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने उन्हें उनके आवास पर जाकर यह सम्मान प्रदान किया था।