मेरठ (NNI Live) :- एनसीईआरटी की किताबों को अवैध रूप से छापकर सप्लाई करने को पूरे पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गिरोह सक्रिय है। मेरठ में छापे के बाद मिली जानकारी से शुक्रवार देररात अमरोहा जनपद के गजरौला में छापेमारी में 25 करोड़ रुपये कीमत की एनसीईआरटी की किताबें बरामद हुई।

एसटीएफ और मेरठ पुलिस ने मेरठ के मोहकमपुर में छापा मारकर 35 करोड़ रुपये कीमत की एनसीईआरटी की किताबें बरामद हुई। इस धंधे में भाजपा के महानगर उपाध्यक्ष संजीव गुप्ता और उनका भतीजा सचिन गुप्ता साझीदार है। जिस गोदाम में किताबें मिली, वह सचिन गुप्ता का है। मौके से पकड़े गए कर्मचारियों से पूछताछ के बाद एसटीएफ ने शुक्रवार देररात अमरोहा जनपद के गजरौला में एक गोदा में छापा डाला।

एसटीएफ के सीओ ब्रजेश कुमार का कहना है कि गजरौला में सचिन गुप्ता के गोदाम से छापे में लगभग 25 करोड़ रुपये कीमत की एनसीईआरटी की किताबें बरामद हुई है। इस मामले की विस्तृत जांच की जा रही है

एनसीईआरटी व वाणिज्य कर अधिकारी सक्रिय

एसटीएफ के सनसनीखेज खुलासे के बाद एनसीईआरटी और वाणिज्य कर विभाग के अधिकारी सक्रिय हो गए हैं। दोनों ही विभागों के अधिकारियों ने मेरठ पहुंचकर जांच शुरू कर दी है। किताबों के छापने से लेकर उनकी बिक्री तक की जांच की जा रही है।