नई दिल्ली (NNI Live) :- केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि यह हम सभी के लिए दुखद दिन है कि प्रणब दा अब हमारे साथ नहीं हैं। जो लोग राजनीति में आना चाहते हैं और बिना किसी विवाद के काम करना चाहते हैं, उन्हें प्रणब मुखर्जी के राजनीतिक जीवन का अवलोकन करते हुए उसका अनुसरण करना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का सोमवार की शाम निधन हो गया था। वह 84 वर्ष के थे। प्रणब मुखर्जी को पिछले 10 अगस्त को सेना के ‘रिसर्च एंड रेफ्रल हास्पिटल’ में भर्ती कराया गया था। उसी दिन उनके मस्तिष्क की सर्जरी की गई थी। उसके बाद वह काफी दिनों तक सेना के अस्पताल में कोमा में थे। मुखर्जी को बाद में फेफड़ों में संक्रमण हो गया। वह वर्ष 2012 से 2017 तक देश के 13वें राष्ट्रपति थे। मंगलवार को उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। केंद्र सरकार ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर सोमवार को 7 दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है।