हैदराबाद (तेलंगाना) :- राज्य में अब तक कोरोना से 237 लोगों की मौत हो चुकी है। बड़ी बात ये है कि मरने वालों में से 200 से अधिक लोग जीएचएमसी परिधि के निवासी थे। शहर मं अब भी कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा। हालात को देखते हुए व्यापारी संगठनों ने अपने प्रतिष्ठानों को पांच जुलाई तक बंद रखने का निर्णय लिया है। हाल ही में हैदराबाद के चेस्ट हॉस्पिटल, एर्रागड्डा में काम करने वाली हेड नर्स विक्टोरिया जयमणि का कोरोना से निधन हो गया। वह इस महीने की 30 तारीख को ही रिटायर होने वाली थी और चार दिन पहले ही उसकी मौत हो गई।

दक्षिण मध्य रेलवे के अब तक 18 कर्मचारी संक्रमित पाए गए, जबकि गांधी अस्पताल में अब तक 20 डॉक्टरों और दस पैरामेडिकल स्टाफ को कोरोनो वायरस से संक्रमित पाया गया। उस्मानिया मेडिकल कॉलेज के तहत विशेष अस्पतालों में लगभग 100 लोग कोरोना संक्रमित हो गए है। इस बीच शुक्रवार देर रात जारी चिकित्सा विभाग की स्वास्थ्य लिटन के अनुसार तेलंगाना में कोरोना संक्रमण महामारी ने रिकॉर्ड तोड़ बढ़ोत्तरी की है।

प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 985 नये पॉजिटिव मामले दर्ज हुए हैं। इसके साथ प्रदेश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 12,349 हो गई हैं। स्वास्थ विभाग की ओर से शुक्रवार रात को जारी बुलेटिन में यह जानकारी दी गई। बुलेटिन के अनुसार शुक्रवार को सात मरीजों की मौत हुई। इस तरह प्रदेश में अब तक मरने वालों की संख्या 237 हो गई हैं। इस समय तेलंगाना में 7,436 मामले सक्रिय हैं।

हैदराबाद के नगर पालिका परिधि में 774, रंगारेड्डी जिले में 86, मेडचल में 53, करीमनगर में 13, मुलुगु में 02, सिद्दिपेट में 03, राजन्ना सिरसिल्ला में 06, करीमनगर अर्बन में 20, महबूबनगर में 01, विकाराबाद में 01, जनगाम में 01, मेदक में 09, जगित्याल में 02, आदिलाबाद में 07, भूपालपल्ली में 03, खम्मम में 03, नागरकर्नूल में 06, यादाद्री भुवनगिरी में 02, निजामाबाद में 06 और नलगोंडा जिले में एक मामले दर्ज हुए हैं।