नई दिल्ली (NNI Live) :-  चीनी रक्षा मंत्री जनरल वेई फेंगहे ने शुक्रवार को शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठक के दौरान भारतीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ बैठक करने का अनुरोध किया है। यदि ऐसा होता है, तो यह पूर्वी लद्दाख में भारत के साथ चल रहे तनाव के बीच चीन के साथ उच्चतम स्तर की वार्ता होगी।

दोनों रक्षा मंत्री एससीओ के रक्षा मंत्रियों की बैठक के लिए वर्तमान में मास्को में हैं। भारत, चीन और रूस के अलावा  पाकिस्तान, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान इसके सदस्य देश हैं।

भारत को चीन की ओर से राजनाथ सिंह से मिलने का अनुरोध तब भी मिला था जब वह इस साल की शुरुआत में विजय दिवस समारोह के लिए मास्को गए थे। हालांकि उस समय कोई बैठक नहीं हुई थी।

इससे पहले भारत ने कहा है कि पूर्वी लद्दाख में पिछले चार महीने के दौरान स्थिति के बिगड़ने के लिए चीन सीधे रूप से जिम्मेदार है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने गुरुवार को पत्रकार वार्ता में कहा कि पूर्वी लद्दाख में सीमा पर पिछले चार महीने से जारी हालात से साफ जाहिर है कि इसके लिए चीनी पक्ष द्वारा यथा स्थिति में बदलाव की एकतरफा कार्रवाई सीधे रूप से जिम्मेदार है। चीन की कार्रवाई द्विपक्षीय समझौतों और सहमतियों का उल्लंघन है जिनके चलते पिछले तीन दशकों के दौरान शांति और सामान्य स्थिति बनी हुई थी।