लखनऊ (NNI Live) :- प्रदेश में कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या अब बढ़कर 67,287 हो गई है। राज्य में कुल 3,17,000 लोग इलाज के बाद पूरी तरह ठीक होने के बाद घर भेजे जा चुके हैं। अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश अवस्थी ने सोमवार को बताया कि कल 62 लोगों की संक्रमण के बाद मौत हुई है। इस तरह राज्य में संक्रमण के बाद कुल मौतों की संख्या 4,491 पहुंच गई है।

अब तक 76.36 लाख कोरोना नमूनों की हुई जांच

राज्य की विभिन्न प्रयोगशालाओं में रविवार को कुल 1,30,352 कोरोना नमूनों की जांच की गई। वहीं अब तक कुल 76,36,000 कोरोना नमूनों की जांच की जा चुकी है।

3,213 पूल के जरिए 17,315 नमूनों की हुई जांच

उन्होंने बताया कि रविवार को 3,213 पूल के जरिए 17,315 नमूनों की जांच की गई। इनमें 2,963 पूल के जरिए प्रति पूल पांच-पांच नमूनों की जांच की गई, जिसमें 333 पूल की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। वहीं 250 पूल के जरिए प्रति पूल दस-दस नमूनों की जांच की गई, जिसमें 34 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

कुल 1.21 लाख मरीजों का होम आइसोलेशन का समय पूरा

उन्होंने बताया कि प्रदेश में वर्तमान में कुल सक्रिय मरीजों में से 36,059 लोग होम आइसोलेशन यानि घर पर रहकर इलाज की सुविधा का लाभ ले रहे हैं। 3,827 लोग निजी अस्पतालों और 267 लोग होटल में एल-1 प्लस की सेमिपेड फैसिलिटी सुविधा का भी लाभ उठा रहे हैं। वहीं इनके अलावा शेष राज्य सरकार की एल-1, एल-2 व एल-3 की व्यवस्था के तहत सरकारी अस्पतालों में भर्ती हैं।

अभी तक कुल 1,53 लाख से ज्यादा लोग होम आइसोलेशन की सुविधा का लाभ ले चुके हैं, जिनमें से 1,21,621 लोगों के इलाज का समय पूरा होने पर उन्हें डिस्चार्ज घोषित कर दिया गया है।

11 करोड़ लोगों के बीच पहुंची स्वास्थ्य टीमें

स्वास्थ्य विभाग की टीमें लगातार विभिन्न क्षेत्रों में लोगों के बीच पहुंचकर सर्वेश्रण कर रही हैं। अभी तक 1,03,136 इलाकों में 3,48,000 टीमों ने 2,31,00,000 करोड़ घरों का सर्वेक्षण किया है। इसके तहत 11 करोड़ से अधिक लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग की गई है।

प्रदेश में अब तक 64,451 कोविड हेल्प डेस्क स्थापित

प्रदेश में कुल 64,451 ‘कोविड हेल्प डेस्क’ की स्थापना की जा चुकी है। इनके जरिए 7,45,000 से अधिक लक्षणात्मक लोगों की पहचान की गई। इनमें ऑक्सीमीटर और थर्मामीटर उपलब्ध हैं। इन सभी इकाइयों में सैनिटाइजर की पर्याप्त उपलब्धता की गई है।

आरोग्य सेतु एप को लेकर 10.99 लाख लोगों को किया जा चुका है फोन

प्रदेश में ‘आरोग्य सेतु’ एप डाउनलोड करने वालों के जो अलर्ट मिल रहे हैं, उन्हें कन्ट्रोल रूम और मुख्यमंत्री हेल्पलाइन-1076 के जरिए फोन किया जा रहा है। अभी तक 10,99,000 लोगों को फोन कर सतर्कता बरतने की सलाह दी गई है।