नई दिल्ली (NNI Live) :- उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुए कथित गैंगरेप मामले को लेकर कांग्रेस पार्टी लगातार इंसाफ के लिए आवाज बुलंद किए हुए हैं। इस क्रम में महिलाओं के खिलाफ अपराध पर लगाम लगाने तथा महिला सुरक्षा के लिए कड़े कदम उठाए जाने की मांग कांग्रेस कर रही है। वहीं केंद्र एवं राज्य सरकारों को इस मुद्दे पर जागरूक करने की मंशा से पार्टी ने सोशल मीडिया पर भी #SpeakUpForWomenSafety नाम से एक अभियान छेड़ा हुआ है।

कांग्रेस का कहना है कि पिछले छह साल में महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध ने हर देशवासी को झकझोरा है। देश में महिला शक्ति भय के माहौल में है, असुरक्षित महसूस कर रही है। ऐसे में जरूरी है कि महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध को लेकर आवाज उठाई जाए। कुछ कांग्रेस नेताओं का कहना है कि हाथरस में बेटी के साथ हुई दरिंदगी ने महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराधों के प्रति भाजपा की अगंभीरता की पोल खोली है। भाजपा सरकार बेटी को न्याय दिलाने की बजाय आरोपितों के पक्ष में खड़ी नजर आ रही है। कांग्रेस के मुताबिक भाजपा नेताओं ने हाथरस की बेटी के चरित्र पर लांछन लगाकर उसका चरित्रहनन करने का प्रयास किया। पार्टी लड़ाई ऐसी ही घृणित मानसिकता के खिलाफ है। पीड़िता के खिलाफ बदज़ुबानी बंद होनी चाहिए, पीड़िता को न्याय मिलना चाहिए।

स्पीकअप फॉर वुमेन सेफ्टी अभियान के तहत कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने वीडियो संदेश में कहा कि महिलाओं के प्रति अपराध लगातार बढ़ रहे हैं। ऐसे में पीड़ित महिलाओं की आवाज सुनने की बजाय उन्हें बदनाम करने, उन्हीं पर आरोप लगाने की शर्मनाक और बुजदिल हरकत की जा रही है। लेकिन देश की महिलाएं अब चुप नहीं रहेंगी। एक बहन को दोषी ठहराया तो लाखों बहनें आवाज बुलंद करेंगी और उनके साथ खड़ी होंगी। अब महिलाओं को ही महिला सुरक्षा का जिम्मा उठाना होगा।

वहीं महिला कांग्रेस अध्यक्ष सुष्मिता देव ने कहा कि देश के किसी भी प्रदेश में बलात्कार हो तो हम सबको दुख होता है। बलात्कार जैसे संवेदनशील मुद्दे पर सरकार अपनी जिम्मेदारी का पालन करे। हाथरस के मामले में यूपी सरकार ने पीड़िता के साथ ऐसा सलूक किया, जो कि शर्मनाक है।

पार्टी प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अत्याचार और अपराध ने हमारे देश की आत्मा को झकझोर कर रख दिया है। ये देश और विश्व की आधी आबादी की अस्मिता का सवाल है। इसलिए हमारे साथ इस अभियान से जुड़ने के लिए आप सभी का धन्यवाद।

सांसद शशि थरूर ने कहा, बलात्कार और हत्या जैसे अपराध तो यूपी में पिछले कुछ साल से होते ही रहे हैं लेकिन हाथरस में जो हुआ उसने न्याय मांगने वालों को और उनके साथ खड़े होने वाले हर इंसान को अपमानित ही नहीं बल्कि हताश कर दिया है।

कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने कहा कि हमारा देश असल मायनों में तब आजाद होगा, जब हमारे देश की महिलाएं रात के अंधेरे में भी घर से बाहर निर्भय होकर सिर उठाकर चल सकें। मगर आज भाजपा की महिला विरोधी मानसिकता के कारण हमारी बेटियां दिन के उजाले में भी सुरक्षित नहीं हैं।

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि भारत में जो कुछ घटित हो रहा है, वो दुखद है, हृदयविदारक है। ‘बेटी बचाओ’ अभियान की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। कई राज्य सरकारें वास्तविकता को छिपाने का प्रयास कर रही हैं, महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध के कारण स्थिति गंभीर हुई है।

सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि महिलाओं के खिलाफ बढ़ते हुए अत्याचार और अपराध ने हमारे देश की आत्मा को झकझोर कर रख दिया है। ये देश और विश्व की आधी आबादी की अस्मिता का सवाल है। इसलिए हमारे साथ इस अभियान से जुड़ने के लिए आप सभी का धन्यवाद। वहीं कुलदीप बिश्नोई ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय सर्वे के अनुसार पूरी दुनिया में भारत महिलाओं के लिए सबसे खतरनाक देश माना जा रहा है। यह हमारे समाज और सरकार के लिए बहुत शर्मनाक है। सरकार से मेरी विनती है कि राजनीति छोड़कर न्याय कीजिए और अपराधियों को बचाना बंद कीजिए।

रागिनी नायक ने कहा कि मोदी जी का नारा था कि ‘बेटी बचाओ’ लेकिन आज जनता कह रही है कि ये नारा एक चेतावनी बन गया है। कितनी शर्म की बात है कि जिन वादों के साथ मोदी जी सत्ता में आए थे, आज वो सभी वादे खोखले साबित हो रहे हैं।