भोपाल (NNI Live) :– केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर उपचुनाव से पहले कांग्रेस पर जमकर बरसे हैं। उन्होंने निशाना साधते हुए कहा है कि मप्र में कांग्रेस पूरी तरह खत्म हो चुकी है और साथ ही उपचुनाव में बीजेपी की जीत का दावा किया है। मंगलवार को मीडिया से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि नारों से चुनाव नहीं जीते जाते, ऐसा होता तो कांग्रेस खत्म नहीं होती। राहुल, प्रियंका, पायलट ने यूपी में भी प्रचार किया था, वही हश्र एमपी में भी होगा।

इस दौरान केन्द्रीय मंत्री तोमर ने तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस में दम बचा नहीं है, उपचुनाव में कांग्रेस बुरी तरह हारेगी। वहीं, ग्वालियर-चम्बल उपचुनाव पर उन्होंने कहा कि कमलनाथ ने 2018 के चुनाव में किसान कर्जमाफी का वादा किया था। कमलनाथ ने किसान कर्जमाफी को लेकर वादाखिलाफी की, कर्जमाफी न होने के चलते कांग्रेस में आंतरिक विरोध हुआ है। कमलनाथ की 15 माह की सरकार में भ्रष्टाचार चरम पर था।

उन्होंने प्रदेश में भाजपा सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज ने पिछले 15 साल और अभी छ: माह के कार्यकाल में किसानों के हित मे फैसले लिए। इस दौरान उपचुनाव के दौरान स्तरहीन बयानबाजी को लेकर केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि दिमाग में जब कुछ मटेरियल नहीं होता तो ऐसी बयानबाजी होती है। कांग्रेस नेता शिवराज सिंह चौहान को भूखे नंगे घर के बता रहे हैं, इस देश मे गरीब होना क्या अभिशाप है। कमलनाथ अगर बड़े घर के है तो उन्होंने क्या कर दिया। शिवराज ने अपने परिश्रम से ये मुकाम हासिल किया, इसलिए 13 साल सीएम रहें। उन्होंने दावा करते हुए कहा कि उपचुनाव में भाजपा की स्थिति मजबूत है।

कृषि बिल पर कांग्रेस का रवैया दोहरा
केंद्रीय कृषि बिल पर नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि ये बिल अभूतपूर्व बदलाव लाने वाले हैं। इससे पहले यूपीए ने भी कृषि बिल लाने की कोशिश की थी, यूपीए कुछ लोगों के दबाव में कृषि बिल नहीं ला सका। लेकिनन पीएम मोदी की संकल्प से कृषि बिल ला पाए। बिल को लेकर कांग्रेस के विरोध को अप्रासंगिक बताते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस का कृषि बिल पर दोहरा रवैया है। नरेंद्र सिंह तोमर ने सलाह देते हुए कहा कि कांग्रेस दो मुंही राजीनीति से बाज आना चाहिए।