मुंबई (NNILive) :-बतौर एक्टर प्रकाश झा की फिल्म ‘मट्टो की साइकिल’ को लेकर इसके डायरेक्टर एम गनी काफी एक्साइटेड हैं। बता दें उनकी ये पहली फिल्म हैं। एम गनी का कहना है कि फिल्म की कहनी ऐसे रोजमर्रा के ऐसे लोगों पर आधारित है, जिनके संघर्षों पर लोग नजरअंदाज कर देते हैं। फिल्म में प्रकाश झा ने मट्टो का रोल निभाया है, जो एक दिहाड़ी मजदूर है और मटट्टो का परिवार उसके आने-जाने के लिए एक साइकिल खरीदना चाहता है।

बुसान इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल की ‘विंडो ऑन एशियन सिनेमा’ श्रेणी में इस फिल्म को शुक्रवार को वैश्विक स्तर पर प्रदर्शित किया गया। गनी ने कहा कि फिल्म के नायक और लॉकडाउन के दौरान बड़े शहरों को छोड़कर वापस अपने घर पैदल ही जाने को मजबूर हुए श्रमिकों के बीच अजब सी समानता है।

 

Instagram पर यह पोस्ट देखें

 

Thank you #SouthKorea for the overwhelming response #PrakashJha starrer #Mattosbicycle makes its World Premiere at the 25th Busan international film festival. @busanfilmfest #BIFF2020

को Prakash Jha Productions (@prakashjproductions) द्वारा साझा की गई पोस्ट

 

मजदूरों पर आधारित फिल्म
फिल्ममेकर एम गनी ने कहा, “महामारी के दौरान जो लोग नंगे पैर ही अपने घरों को लौटने को मजबूर हुए। वो सभी हमारे आसपास हैं। जब हम घर बनाते हैं तो वो काम करते हैं, हम रोजमर्रा की जरूरतों का जो सामान उपयोग करते हैं। वो ही इन्हें बनाते हैं लेकिन हमने कभी ऐसे लोगों पर ध्यान नहीं दिया।

कई डॉक्युमेंट्री बना चुके है एम गनी
फीचर फिल्म बनाने से पहले गनी कई छोटी फिल्मों और डॉक्यूमेंट्री पर काम कर चुके हैं। फिल्म निर्देशक ने बताया कि मट्टो जैसे लोग हमारे इर्द-गिर्द हैं, लेकिन इनकी कहानियों को समाज नजरअंदाज कर देते हैं। गनी ने जब इस फिल्म के निर्माण के बारे में सोचा तो उन्हें लगा कि अब शायद लोग साइकिल का इस्तेमाल नहीं करते लेकिन जब उन्होंने अध्ययन किया तो खुद को गलत पाया।