नई दिल्ली (NNI Live) :- बिहार में बुधवार को पहले चरण के लिए वोटिंग होनी है, इससे पहले मंगलवार को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने राज्य की नीतीश कुमार को निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा है कि नीतीश सरकार सत्ता और अहंकार में डूबी है। अब इस अहंकारी सरकार को बदलने का वक्त आ गया है।

बिहार के मतदाताओं को संबोधित कर सोनिया गांधी ने कहा, ‘’मेरे प्यारे भाइयों और बहनों, बिहार की पवित्र और ऐतिहासिक धरती को मैं नमन करती हूं। आज बिहार में सत्ता और उसके अहंकार में डूबी सरकार अपने रास्ते से अलग हट गई। ना उनकी करनी अच्छी है और न उनकी करनी।’’ उन्होंने कहा कि मजदूर आज मजबूर है, किसान परेशान है और नौजवान निराश हैं। ऐसे में परिवर्तन बहुत जरूरी हो गया है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने आगे कहा कि अर्थव्यवस्था की नाजुक स्थिति लोगों के जीवन पर भारी पड़ रही है। धरती के बेटों पर आज गंभीर संकट है। दलितों और महादलितों को बिहाली की कगार पर लाकर छोड़ दिया गया है। समाज के पिछड़े वर्ग भी इसी बदहाली के शिकार हैं। बिहार की जनता की आवाज कांग्रेस महागठबंधन के साथ है। आज बिहार की पुकार यही है।

सोनिया ने कहा, ‘’दिल्ली और बिहार की सरकारें बंदी सरकारें हैं। नोटबंदी, तालाबंदी, व्यापार बंदी, आर्थिक बंदी, खेत खलिहान बंदी और रोटी रोजगार बंदी। इसीलिए बंदी सरकार के खिलाफ अगली नस्ल और अगली फसल के लिए, एक नए बिहार के निर्माण के लिए बिहार की जनता तैयार है।’’ उन्होंने कहा कि अब बदलाव की बयार है, क्योंकि बदलाव में जोश है, उर्जा है, नई सोच है और शक्ति है अब नया भारत लिखने का समय आ गया है।

सोनिया गांधी ने कहा कि बिहार के हाथों में गुण है, हुनर है, ताकत है, निर्माण की शक्ति है, लेकिन बेरोजगारी, पलायन, महंगाई, भुखमरी ने उनकी आंखों में आंसू और पैरों में छाले दे दिए हैं। जो शब्द कह नहीं जा सकते उसे आंसुओं से कहना पड़ता है। बेखौफ अपराध के आधार पर नीति और सरकारें खड़ी नहीं की जा सकती।