फरीदाबाद (NNILive) :- बल्लभगढ़ में 21 वर्षीय लड़की निकिता तोमर की हत्या के मामले में तीसरे व्यक्ति की गिरफ्तारी हो गई है। गिरफ्तार अजरू ने इस हत्या कांड के मुख्य आरोपी तौसिफ को पिस्टल मुहैया कराया था। हरियाणा पुलिस ने नूंह जिले में दर्जनों जगहों पर छापेमारी के बाद आरोपी को गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने कहा कि आरोपी तौसिफ अहमद के मामा की पहचान केवल इस्लामुद्दीन के रूप में हुई है, जो वर्तमान में 30 जून, 2016 को गुरुग्राम में एक पुलिस निरीक्षक का अपहरण करने के लिए भोंडसी में 10 साल की सजा काट रहा है। पता चला है कि तौसिफ इन्हीं की मदद से हथियार लेकर आया था।

बता दें कि निकिता तोमर को दिन-दहाड़े बीच सड़क पर मौत के घाट उतार दिया गया था। लड़की अपने कॉलेज से पेपर देकर आ रही थी। पहले उसे किडनैप करने की कोशिश की और जब वो गाड़ी के अंदर नहीं बैठी तो उसे मार दिया गया। जांच में पता चला कि मुख्य आरोपी को नूंह में अपने मामा के दोस्त से कुछ दिनों पहले ही ये हथियार मिला था। जिससे उसने हत्या को अंजाम दिया।

निकिता ने जिस प्राइवेट स्कूल में 12वीं की पढ़ाई की थी। उसी स्कूल में आरोपी तौशीफ भी पढ़ता था। वह, यहां हॉस्टल में रहता था। इसी दौरान वह निकिता से एकतरफा प्यार करने लगा। वह निकिता का प्यार पाने के लिए उसे बार-बार परेशान भी किया करता था।

पहले भी निकिता के पापा ने तौशीफ के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कराया था। आरोपों की मानें तो उसने 2018 में निकिता का अपहरण कर लिया था। उसके खिलाफ बल्लभगढ़ थाने में मामला भी दर्ज किया गया था। इस समय निकिता नाबालिगक थी। तौशीफ और उसके परिवार वालों ने माफी मांग ली, जिसके बाद निकिता के पिता ने मुकदमा वापस ले लिया। हालांकि, तौशीफ का एकतरफा प्यार खत्म नहीं हुआ।