उत्तर प्रदेश(NNILive) :- जनपद मुजफ्फरनगर में थाना जानसठ पुलिस को उस समय बड़ी सफलता हाथ लगी, जब पुलिस ने चेकिंग के दौरान तीन अभियुक्तों को दबोच लिया। पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों के कब्जे से 1 असली और 2 नकली बुलेट प्रूफ जैकेट के साथ साथ 2 तमंचे व कारतूस बरामद किये है। पकड़े गए आरोपी अवैध असला सप्लाई करने वाले गिरोह के शातिर सदस्य हैं। इस गिरोह के तीन सदस्य गत 12 अक्टूबर को 5 अवैध पिस्टल व चोरी की मोटरसाइकिल के साथ जेल जा चुके है।

दरअसल,  पुलिस लाइन स्तिथ सभागार कक्ष में पुलिस अधीक्षक ग्रामीण नेपाल सिंह ने प्रेस वार्ता कर जानकारी देते हुए बताया कि थाना जानसठ पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि क्षेत्र में कुछ लोग अवैध गतिविधियों में संलिप्त हैं। मुखबिर की इसी सूचना पर पुलिस ने चैकिंग के दौरान मीरापुर जानसठ रोड से एक ढाबे के पास से 3 लोगो को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों के कब्जे से 3 बुलेटप्रूफ जैकेट व 2 अवैध तमंचे बरामद किए है। पकड़े गए आरोपियों की पहचान सुनील चंद्रा पुत्र चंद्रपाल सिंह निवासी मोहल्ला पछायान थाना मीरापुर, मानसिंह पुत्र घसीटू निवासी कासमपुर खोला थाना मीरापुर, श्याम किशन मेहरा पुत्र किशन मेहरा निवासी विकास विहार थाना सिविल लाइन मेरठ के रूप में हुई है।

पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों से जब सख्ताई से पूछताछ की तो इन्होंने बताया कि गत 12/13 अक्टूबर की रात्रि में थाना जानसठ कोतवाली क्षेत्र में मुठभेड़ के दौरान 5 अवैध पिस्टल कारतूस और चोरी की बाइक के साथ पकड़े रणजीत व मनीष ठाकुर तथा अमित ठाकुर भी हमारे ही गिरोह के सदस्य है, जो पकड़े गए थे, हम लोग अवैध असलाह पिस्टल व अवैध तमंचों की सप्लाई का कारोबार करते है। आज हम लोग बुलेटप्रूफ जैकेट सप्लाई करने वाले श्याम किशन मेहरा से बुलेटप्रूफ जैकेट लेने आए हुए थे।

इस दौरान श्याम किशन मेहरा ने बताया कि वह चेन्नई से सुरेश नामक व्यक्ति से इन बुलेटप्रूफ जैकेट को 50-50 हजार रुपये में खरीदता है। जो वाईएसआर एंटरप्राइज नाम की कंपनी चलाता है, तथा 1 लाख 25 हजार से 1 लाख 35 हजार में आगे बेच देता है, ओर अधिक मुनाफा कमाने के लिए अब वह असली बुलेटप्रूफ जैकेट दिखाकर नकली बुलेटप्रूफ जैकेट बेचने आया था। इस दौरान एसपी देहात ने ओर अधिक जानकारी देते हुए बताया कि पकड़े गए अपराधियो के विरुद्ध पूर्व में भी काफी मुकदमे पंजीकृत है, इन्हें गिरफ्तार कर जेल भेजा जा रहा है।