मुंबई (NNI Live) :- महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के अध्यक्ष राज ठाकरे ने कहा है कि उद्धव ठाकरे सरकार कोई भी निर्णय नहीं ले पा रही है। इसी वजह से सूबे में समस्याएं बढ़ती जा रही हैं। इस कारण उन्होंने गुरुवार को राज्यपाल से मुलाकात कर हस्तक्षेप करने का निवेदन किया।

राज्यपाल से मुलाकात के बाद राज ठाकरे ने पत्रकारों को बताया कि सूबे में लॉकडाउन के दौरान बिजली का बिल अंदाजे से दिया जा रहा है। लोगों को चार गुना से अधिक बिजली का बिल आ रहा है, जिससे लोग परेशान हैं। इस विषय पर उन्होंने अडानी कंपनी, ऊर्जा मंत्री नितिन राउत व अन्य अधिकारियों से चर्चा की लेकिन सभी एक दूसरे पर जिम्मेदारी थोप रहे हैं। इसलिए इस मामले पर निर्णय नहीं हो पा रहा है।

राज ठाकरे ने कहा कि राज्यपाल ने उनसे कहा कि आप शरद पवार से बात करें, इसलिए वे इस मुद्दे पर शरद पवार व मुख्यमंत्री से भी बात करने वाले हैं।

मनसे अध्यक्ष ने कहा कि राज्य सरकार किसी भी मुद्दे पर निर्णय नहीं ले पा रही है। राज्य में 11वीं में प्रवेश की समस्या है। राज्य में होटल खोल दिए गए हैं लेकिन मंदिर नहीं खोले गए। लोकल ट्रेन नहीं शुरू होने से लोगों की परेशानियां काफी बढ़ी हैं। राज ठाकरे ने कहा कि सरकार को तत्काल निर्णय लेना चाहिए। सरकार को फिर विचार कर नागरिकों को बताना चाहिए कि यह सब कब से शुरू किया जाएगा, जिससे लोगों की प्रतीक्षा खत्म हो सके।