लखनऊ (NNI Live) :- पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्यालय गोरखपुर के अस्पताल में शौचालय में लगी टाइल्स के रंग को लेकर विवाद शुरू हो गया है। शौचालय में लाल तथा हरे रंग की टाइल्स पर समाजवादी पार्टी ने कड़ा विरोध जताते हुए इसे भाजपा खिसियाहट बताया। पार्टी ने टाइल्स के रंगों को बदलने की मांग भी की। वहीं मामले में रेलवे ने ट्वीट पर अपनी सफाई भी दी है।

गोरखपुर में ललित नारायण मिश्र रेलवे अस्पताल के शौचालय में सपा के झंडे की रंग की टाइल्स लगाने का मामला सामने आया है। इसकी तस्वीर गुरुवार को सपा ने अपने ट्विटर हैंडल पर पोस्ट की। इसके साथ ही ट्वीट किया कि दूषित सोच रखने वाले सत्ताधीशों द्वारा राजनीतिक द्वेष के चलते गोरखपुर रेलवे अस्पताल में शौचालय की दीवारों को सपा के रंग में रंगना लोकतंत्र को कलंकित करने वाली शर्मनाक घटना है। एक प्रमुख राजनीतिक पार्टी के ध्वज के रंगो का अपमान घोर निंदनीय है। संज्ञान ले हो कार्रवाई, तत्काल बदला जाए रंग।

वहीं पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ. अनुराग भदौरिया ने मामले में कड़ी नाराजगी जताते हुए कहा कि गोरखपुर रेलवे स्टेशन पर जिस तरह से शौचालय का रंग समाजवादी पार्टी के झंडे के रंग से कर दिया गया है, उससे साफ जाहिर हो गया है कि भारतीय जनता पार्टी खिसिया रही है।

उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी ने जो विकास का कार्य किया था। उसकी बराबरी ना कर पाने के कारण भाजपा ऐसी ओछी हरकत करने लगी है। यह हिन्दुस्तान की संस्कृति और संस्कार के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि रेल मंत्री को इस पर तुरंत कार्रवाई करनी चाहिए। भदौरिया ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी से हमारे वैचारिक मतभेद हो सकते हैं। वैचारिक लड़ाई हो सकती है। इसका मतलब यह नहीं है कि वह हिन्दुस्तान की संस्कृति और संस्कार को ठेस पहुंचाएगी। इससे ज्यादा शर्म की बात भारतीय जनता पार्टी के लिए नहीं हो सकती।

वहीं मामले को लेकर पूर्वोत्तर रेलवे की ओर से सफाई दी गई कि स्वच्छ भारत अभियान के अंतर्गत गोरखपुर रेलवे हॉस्पिटल के टॉयलेट में लगे यह टाइल्स वर्षो पुराने हैं। इन टाइल्स को लगाने का उद्देश्य बेहतर साफ सफाई सुनिश्चित करना है। इसका किसी भी राजनीतिक दल से कोई भी सम्बन्ध नहीं है। आइये साथ मिलकर स्वच्छ भारत मिशन में सहयोग करें।

हालांकि सपा नेता इस जवाब से सन्तुष्ट नहीं हैं। पार्टी नेता जूही सिंह ने इस पर कहा कि कब लगवाये जरा ये भी बता दीजिए ? क्यों लगवाए वो तो साफ है, मानसिक साफ सफाई और स्वक्षता भी आवश्यक है उसे भी उद्देश्य बनाएं और कारवाई करें।