पेरिस (NNI Live) :- फ्रांस में 15 दिन में दूसरी बार आतंकी हमला हुआ। फ्रांस के नीस में एक गिरिजाघर में हमलावर द्वारा चाकू से किए गए हमले में तीन लोगों की मौत हो गई है। बताया जा रहा है कि हमलावर ने पहले ‘अल्लाह हू अकबर’ के नारे लगाये फिर एक महिला का सिर धड़ से अलग कर दिया।

सूत्रों की मानें तो हमलावर की पहचान ट्यूनीशिया के नागरिक के रूप में हुई है। हमलावर फ्रांस के चर्च में हाथ में कुरान की कॉपी और चाकू लेकर घुसा था और फिर उसने तीन लोगों की हत्या कर दी। फ्रांस के नीस शहर में नोट्रे-डेम बेसिलिका के अंदर गुरुवार को लोगों पर हमला करने वाला ट्यूनीशिया का नागरिक है। हमलावर 21 साल का है और उसका कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है।
हमलावर को गुरुवार सुबह गिरफ्तार कर लिया गया। उसे हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है, क्योंकि गिरफ्तारी के दौरान वह घायल हो गया था। हमले की जांच कर रही फ्रांस की एंटी-टेररिज्म एजेंसी का कहना है कि हमलावर अकेले ही काम कर रहा था। हम किसी और की तलाश नहीं कर रहे हैं।

आतंक के खिलाफ नरेंद्र मोदी ने की निंदा
मोदी ने कहा, ‘‘मैं फ्रांस में हाल ही में हुए आतंकी हमलों की कड़ी निंदा करता हूं। पीड़ितों और फ्रांस के लोगों के परिवारों के प्रति मेरी गहरी संवेदना हैं। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत फ्रांस के साथ खड़ा है।’’


फ्रांस में हुए हमले की खबर से हैरान ब्रिटिश पीएम

ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन ने कहा- नॉट्रे-डेम में गुरुवार को हुए बर्बर हमले की खबर सुनकर हैरान हूं। यूके आतंक और असहिष्णुता के खिलाफ फ्रांस के साथ मजबूती से खड़ा है।

इमरजेंसी कैबिनेट मीटिंग बुलाई गई
आतंकवाद की इस घटना के बाद फ्रांस सरकार ने इमरजेंसी कैबिनेट मीटिंग बुलाई। संसद में इस घटना के विरोध में दो मिनट का मौन भी रखा गया। प्रधानमंत्री जीन कास्टेक्स ने कहा- आतंकवाद हमारे देश के लिए बहुत बड़ी चुनौती बन गया है। इससे निपटना होगा और वो भी सख्त कदमों के साथ।