लखनऊ (NNI Live) :- पंजाब में चल रहे किसान आन्दोलन की वजह से लखनऊ होकर पंजाब और जम्मू की ओर जाने और उधर से आने वाली कई स्पेशल ट्रेनों का संचालन बंद है। इससे यात्रियों को अमृतसर, अंबाला, लुधियाना, फिरोजपुर और जम्मू जैसे शहरों को जाने और वहां से आने में दिक्कतें हो रही हैं। करवा चौथ और दीपावली के त्योहार को देखते हुए निरस्त ट्रेनों के संचालन को लेकर दो नवम्बर को रेलवे बोर्ड बैठक करने जा रहा है।

उत्तर रेलवे के लखनऊ मंडल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शनिवार को बताया कि किसान आन्दोलन की वजह से पंजाब और जम्मू से ट्रेनों के द्वारा आवागमन करना मुश्किल हो गया है। पंजाब और जम्मू की ओर जाने और वहां से आने वाली कई ट्रेनों का संचालन 04 नवम्बर तक निरस्त है। करवा चौथ 04 को और दीपावली 14 नवम्बर को है। इसलिए 04 नवम्बर तक निरस्त ट्रेनों के संचालन को लेकर रेलवे बोर्ड में मंथन चल रहा है। इस बारे में 02 नवम्बर को रेलवे बोर्ड की बैठक होनी है। फिलहाल चंडीगढ़ में किसान संगठनों से लगातार वार्ता का दौर जारी है। यदि किसान आन्दोलन चलता रहा तो निरस्त ट्रेनों की अवधि बढ़ाई भी जा सकती है।

उन्होंने बताया कि लखनऊ और चंडीगढ़ के बीच चलने वाली 02231/ 32 पूजा स्पेशल ट्रेन और 04997 वाराणसी-भटिंडा एक्सप्रेस सहित कई स्पेशल ट्रेनों के निरस्त होने से लखनऊ से पंजाब की ओर जाने और उधर से आने वाली ट्रेनों का संचालन पूरी तरह से पटरी से उतर गया है। ऐसे में 04 नवम्बर को पड़ने वाले करवा चौथ के त्योहार पर यात्रियों को लखनऊ की तरफ से अमृतसर, अंबाला, जम्मू, लुधियाना, जालंधर और फिरोजपुर जैसे शहरों को जाने और वहां से आने में दिक्कतें हो सकती हैं।

लखनऊ से पंजाब और जम्मू की तरफ जाने और उधर से आने वाले सैकड़ों यात्री लगातार रेलवे को फोन करके निरस्त ट्रेनों के संचालन के बारे में जानकारी मांग रहे हैं। यात्रियों की मांग है कि अब ट्रेनों का संचालन जल्द से जल्द बहाल किया जाना चाहिए। फिलहाल दो और तीन नवम्बर तक ट्रेनों के संचालन को लेकर स्थिति साफ होने की उम्मीद है।