मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान का मुंबई के बांद्रा स्थित गुरुनानक अस्पताल में निधन हो गया। मौत का कारण कार्डियक अरेस्ट बताया जा रहा है। वे बीते कुछ दिनों से अस्वस्थ चल रही थी। अस्पताल में भर्ती होने के बाद उनका कोरोना जांच भी करवाया गया, जिसका रिपोर्ट नेगेटिव आया था। वह 71 साल की थी। सरोज खान के निधन से फिल्म इंडस्ट्री में शोक की लहर है। बॉलीवुड में इस साल एक के बाद लोगों के जाने से इंडस्ट्री के लोग सदमे में हैं।

उनके फैंस और शिष्य उन्हें सोशल मीडिया पर श्रद्धांजलि दे रहे हैं। सरोज खान अभी तक 200 से ज्यादा फिल्मों के लिए कोरियोग्राफी कर चुकी थी। सरोज खान को तीन बार नेशनल अवॉर्ड मिल चुका था। संजय लीला भंसाली की फिल्म देवदास में डोला-रे-डोला गाने की कोरियोग्राफी के लिए उन्हें नेशनल अवॉर्ड मिला था। उनकी आखिरी फिल्म बतौर कोरियोग्राफर कलंक थी। सरोज खान ने कई एक्ट्रेस को डांस सिखाया हैं, जिसमें माधुरी दीक्षित उनकी प्यारी शिष्या रही हैं।

सरोज खान का असली नाम निर्मला किशनचंद्र संधु सिंह नागपाल था। बंटवारे के बाद उनका परिवार भारत आ गया था। उन्होंने तीन साल की उम्र में बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट श्‍यामा नाम से डेब्यू किया था। सरोज खान की शादी महज 13 साल की उम्र में हो गई थी। उन्होंने 43 साल के डांस मास्टर बी सोहनलाल से शादी करने के लिए इस्लाम कबूल कर लिया था। बी सोहनलाल पहले से शादीशुदा थे।