भोपाल(NNI Live) :- प्रदेश के 19 जिलों के 28 विधानसभा क्षेत्रों में होने वाले उप निर्वाचन के लिये मंगलवार को प्रात: 07 बजे से मतदान शुरू हो गया है जोकि शाम 06 बजे तक चलेगा। इसके पहले सुबह 5.30 बजे से मॉकपोल हुआ। उपचुनाव में 63,67,751 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। मतों की गणना 10 नवम्बर को संबंधित विधानसभा क्षेत्र, जिला मुख्यालय पर होगी। उप निर्वाचन में कुल 355 अभ्यर्थी चुनाव लड़ रहे हैं। मतदान के लिये 13 हजार 115 बैलेट यूनिट, 13 हजार 115 कंट्रोल यूनिट एवं 14 हजार 50 वीवीपैट जिलों में उपलब्ध कराई गई हैं। आयोग द्वारा मतदाताओं को मतदान पर्ची उपलब्ध कराई गई है।

मध्‍य प्रदेश की राजनीतिे में यह पहला अवसर है जब इतनी अधिक सीटों पर उपचुनाव कराए जा रहे हैं। इन महत्‍वपूर्ण उपचुनाव में 12 मंत्रियों सहित 355 प्रत्याशियों के राजनीतिक भविष्‍य का निर्णय होगा। इस चुनाव में यह भी तय हो जाएगा कि मध्‍य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान की भाजपा सरकार ही आगे बढ़ेगी या राज्‍य में एक बार फिर सत्‍ता परिवर्तन होगा और कांग्रेस की कमलनाथ सरकार सत्‍ता में वापसी करेगी ।

अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अरुण कुमार तोमर ने बताया कि उप निर्वाचन में कुल 9 हजार 361 मतदान केन्द्रों पर मतदान हो रहा है । मतों की गणना 10 नवम्बर को संबंधित विधानसभा क्षेत्र, जिला मुख्यालय पर होगी। उप निर्वाचन में कुल 355 अभ्यर्थी चुनाव लड़ रहे हैं। मतदान के लिये 13 हजार 115 बैलेट यूनिट, 13 हजार 115 कंट्रोल यूनिट एवं 14 हजार 50 वीवीपेट जिलों में उपलब्ध कराई गई हैं। आयोग द्वारा मतदाताओं को मतदान पर्ची उपलब्ध कराई गई है।

अभी मतदान शुरू होने से 90 मिनिट पहले उम्मीदवारों के पोलिंग एजेंटों की उपस्थिति में मॉकपोल हुआ । यहां सभी मतदान केंद्रों पर सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम दिखाई दे रहे हैं। कोविड-19 से सुरक्षित मतदान के लिये मतदान केन्द्रों पर मास्क, सेनेटाइजर, साबुन, पानी, तापमान की जांच व्यवस्था के साथ सामाजिक दूरी आदि का ध्यान रखा गया है । कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए मतदान का समय इस उप निर्वाचन में गत निर्वाचनों की अपेक्षा एक घंटे बढ़ाया गया है। मतदान केन्द्रों पर अधिक भीड़ नहीं हो इसके लिये सहायक मतदान केन्द्रों की व्यवस्था की गई है। मतदान केन्द्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिये 6 फीट की दूरी पर गोले बनाए गए हैं ।

यहां हो रहे उपचुनाव
प्रदेश के चंबल क्षेत्र में मुरैना जिले की जौरा, सुमावली, मुरैना, दिमनी, अंबाह विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव हो रहे हैं। इसी तरह से भिंड जिले की मेहगांव, गोहद और ग्वालियर में ग्वालियर, ग्वालियर पूर्व व डबरा सीटों पर चुनाव हो रहे हैं। अन्‍य जिलों में दतिया के भांडेर में शिवपुरी के करैरा, पोहरी के लिए गुना में बमोरी व अशोकनगर में मुंगावली, अशोकनगर, सागर की सुरखी विधानसभा के लिए और अनूपपुर में अनूपपुर, रायसेन जिले की सांची विधानसभा, आगर मालवा जिले की आगर, देवास की हाटपीपल्या सीट, धार की बदनावर, इंदौर जिले की सांवेर, मंदसौर जिले की सुवासरा, छतरपुर की मलहरा, बुरहानपुर की नेपानगर, खंडवा की मांधाता और राजगढ़ जिले की ब्यावरा सीट के लिए उपचुनाव हो रहे हैं।

वर्तमान राजनीतिक दल स्‍थ‍िति
मध्‍य प्रदेश में अभी वर्तमान में भारतीय जनता पार्टी के 107 विधायक हैं। वहीं, कांग्रेस के 87 बसपा के 02, सपा का 01 और निर्दलीय- 04 विधायक हैं। उपचुनाव के परिणाम आने के बाद बहुमत का निर्धारण 229 सीटों के आधार पर होगा। 115 विधायक जिसके साथ होंगे, उसका बहुमत होगा। भारतीय जनता पार्टी को सत्‍ता के बहुमत के लिए आठ और विधायकों की जरूरत है, जबकि कांग्रेस को सभी 28 सीटें जीतने पर बहुमत का आंकड़ा हासिल हो सकेगा ।