नई दिल्ली (NNI Live) :- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वाराणसी से निर्वाचन के खिलाफ BSF के पूर्व जवान तेज बहादुर द्वारा दाखिल अर्जी पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई टल गई है। केंद्र सरकार ने कोर्ट को दिवाली के बाद सुनवाई करने की अपील की। केंद्र की मांग मानते हुए सुप्रीम कोर्ट ने मामले की सुनवाई टाल दी है।

बता दें बीएसएफ से बर्खास्त कांस्टेबल तेज बहादुर यादव ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती दी है। हाईकोर्ट का मानना था कि तेज बहादुर ना तो वाराणसी के वोटर है और ना ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ उम्मीदवार थे। इसी आधार पर उसका इलेक्शन पिटीशन दाखिल करने का कोई औचित्य नहीं बनता है।

2019 लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोबारा से वाराणसी सीट पर चुनाव लड़े। बीएसएफ से बर्खास्त कांस्टेबल तेज बहादुर यादव, उनके खिलाफ समाजवादी पार्टी के घोषित प्रत्याशी थे, लेकिन हलफनामे में जानकारी छुपाने का आरोप लगाते हुए चुनाव अधिकारी ने उनका नामांकन रद्द कर दिया था। जिसके बाद तेज बहादुर ने चुनाव आयोग के फैसले को इलाहाबाद हाई कोर्ट में चुनौती दी। चुनाव याचिका में तेज बहादुर ने पीएम नरेंद्र मोदी का चुनाव रद्द करने की मांग की थी। उन्होंने याचिका में आरोप लगाया था कि पीएम के दबाव में गलत तरीके से चुनाव अधिकारी ने उनका नामांकन रद्द किया।