जयपुर :-  जयपुर एयरपोर्ट पर दो चार्टर विमानों के जरिए यूएई और सउदी अरब से इमरजेंसी लाइट की बैटरी में सोना भरकर लाए 14 तस्करों को कस्टम विभाग ने गिरफ्तार किया है। करीब 31.99 किलो सोना दो चार्टर विमानों से लाया गया था, जिसकी कीमत करीब 15.67 करोड़ रुपये आंकी गई है। सोना बिस्किट के रूप में है।

कस्टम विभाग के कमिश्नर सुभाष अग्रवाल ने बताया कि पहली फ्लाइट स्पाइसजेट की एजी-9055 यूएई के रस अल खेमाह से जयपुर पहुंची थी। इसमें तीन तस्करों से 9.30 किलो सोना बरामद किया गया। इसकी अनुमानित कीमत करीब 4.60 करोड़ रुपये है। इसके बाद शुक्रवार देर रात स्पाइसजेट की फ्लाइट एसजी-9647 रियाद से जयपुर पहुंची। इसमें 11 यात्रियों से 22.652 किलो सोना पकड़ा गया। इसकी अनुमानित कीमत 11.3 करोड़ रुपये है।

उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन के कारण फिलहाल फ्लाइट्स के संचालन पर रोक है। प्रवासी राजस्थानियों को लाने के लिए लगातार इवेक्युएशन फ्लाइट्स चलाई जा रही हैं। शुक्रवार देर रात तक कुल 6 इवेक्यूएशन फ्लाइट्स जयपुर पहुंची थी। इसमें से 2 चार्टर फ्लाइट्स में कुल 14 लोग सोने की तस्करी करते पाए गए। उन्होंने बताया कि शक होने पर सभी लोगों की तलाशी ली गई। इस दौरान इमरजेंसी लाइटों में रखे गए सोने के बिस्किट बरामद किए गए हैं।

कस्टम विभाग के अफसरों ने बताया कि दुबई और अन्य अरब कंट्री से फ्लाइट्स का संचालन शुरू होने के साथ ही कोरोना काल में यह पहला मौका है जब किसी भी तरह की तस्करी पकड़ी गई है। दुबई से आए तीन यात्रियों के बारे में जानकारी मिली थी कि रात को आने वाली उड़ान से वे सोना ला रहे हैं। जांच की तो पता चला कि वे इमरजेंसी लाइट्स में सोना छिपाकर लाए हैं। उन्हीं से जानकारी मिली कि एक अन्य फ्लाइट से कुछ ही देर में और सोना आना वाला है। जांच की तो दूसरी फ्लाइट से 11 तस्कर निकले, जिन्होंने तरल और बिस्किट के रूप में सोने को इमरजेंसी लाइट की बैटरियों में छिपाया था। उनके अन्य साथियों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। कस्टम विभाग के अफसरों का कहना है कि यह जयपुर एयरपोर्ट पर कुछ ही घंटों में पकड़ा गया अब तक का सबसे ज्यादा सोना है।