कोलकाता (NNI Live) :- पश्चिम बंगाल के दो दिवसीय दौरे पर आए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गुरुवार को बांकुड़ा जिले में आदिवासियों के गढ़ में भगवान बिरसा मुंडा की मूर्ति पर माल्यार्पण के साथ अपने कार्यक्रम की शुरुआत की। इस दौरान ममता बनर्जी पर जोरदार प्रहार करते हुए शाह ने कहा कि राज्य में तृणमूल सरकार के प्रति भयंकर जनाक्रोश दिख रहा है। उनकी जनविरोधी नीतियों का खामियाजा गरीब व आम लोग भुगत रहे हैं।

उन्होंने कहा कि यहां उपस्थित लोगों की भीड़ व उनका उत्साह बता रहा है कि ममता सरकार की मृत्यु की अब घंटी बज चुकी है। यानी उसके अंत का समय आ गया है। दूसरी तरफ, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लोगों को भारी उम्मीदें दिख रही है। मोदी जी के नेतृत्व में बंगाल में भी परिवर्तन होगा और अगले साल विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा यहां दो-तिहाई बहुमत की सरकार बनाएगी। शाह ने कहा कि ममता बनर्जी केंद्र की योजनाओं को राज्य में गरीबों तक पहुंचने नहीं दे रही है, इसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ेगा। वह इस डर से इन योजनाओं को लागू नहीं कर रही है कि से भाजपा को फायदा होगा, लेकिन इससे भाजपा को रोका नहीं जा सकता है। बंगाल की जनता ने ममता बनर्जी की सरकार को उखाड़ फेंकने का पूरा मन बना लिया है।

उधर, अमित शाह के बंगाल दौरे को लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हमलावर हो गई हैं। साथ ही ममता ने अमित शाह के ‘लंच डिप्लोमेसी’ से पहले नया दांव चल दिया है। ममता बनर्जी ने नवान्न में आदिवासी, पिछड़े और अनुसूचित जातियों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर उनके लिए कई कल्याकारी योजनाओं कर ऐलान किया है।