BCCI के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने ATK मोहन बागान के निदेशक पद से इस्तीफा दे दिया है। इसका कारण हितों में टकराव बताया जा रहा है। कोलकाता के RPSG ग्रुप ने IPL में लखनऊ की टीम खरीदी है। ये समूह ATK मोहन बागान क्लब की भी मालिक है। अब जब इस ग्रुप ने खुद की IPL टीम बना ली है और गांगुली BCCI के अध्यक्ष हैं। ऐसे में हितों का टकराव होना लाजमी है।

RPSG ग्रुप के संजीव गोयनका ने CNBC-TV 18 को बताया था, ‘मुझे लगता है कि वह मोहन बागान में पूरी तरह से पद छोड़ देगा। यह घोषणा सौरव को करनी है।’

बता दें, गांगुली को लगता है कि उनके अध्यक्ष रहते हुए अगर वे इस ग्रुप के साथ रहेंगे तो निष्पक्ष काम करने में उन्हें दिक्कत हो सकती है।

7,090 करोड़ रुपए में संजीव गोयनका को मिली IPL की नई टीम
संजीव गोयनका ग्रुप ने लखनऊ की टीम को 7,090 करोड़ रुपए में खरीदा है। ग्रुप का 6 बिलियन अमेरिकी डॉलर का एसेट बेस है। ये ग्रुप एनर्जी, कार्बन ब्लैक मैन्युफैक्चरिंग, रिटेल, IT इनेबल्ड सर्विस, FMCG, मीडिया एंड एंटरटेनमेंट और एग्रीकल्चर के बिजनेस में शामिल है।

पहले भी खेल चुकी है IPL
इस ग्रुप ने 2015 में पुणे की टीम को खरीदा था। रघु अय्यर को इसका CEO नियुक्त किया गया था। 2016 के IPL सत्र में टीम का प्रदर्शन खराब रहा था और टीम प्लेऑफ में जगह बनाने में नाकाम रही थी। हालांकि, 2017 के सीजन में टीम ने फाइनल तक का सफर तय किया था। 2017 के IPL फाइनल में राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स को मुंबई इंडियंस ने 1 रन से हराया था।