दिल्ली में एक और दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. दुष्कर्म के बाद मासूम बच्ची को इलाज के लिए दर-दर भटकना पड़ा. किसी भी नामचीन अस्पताल में उसे दाखिला नहीं मिल सका। पिता खून से लथपत बच्ची को लेकर अस्पतालों के चक्कर काटता रहा.

नई दिल्ली:

दिल्ली में एक और दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. दुष्कर्म के बाद मासूम बच्ची को इलाज के लिए दर-दर भटकना पड़ा. किसी भी नामचीन अस्पताल में उसे दाखिला नहीं मिल सका. पिता खून से लथपत बच्ची को लेकर अस्पतालों के चक्कर काटता रहा। सरदार पटेल अस्पताल से लेडी हार्डिंग अस्पताल, कलावती, फिर लेडी हार्डिंग., खून से लथपथ अपनी बच्ची को लेकर उसे 15 किमी तक भटकना होगा. आखिरकार किसी तरह राम मनोहर लोहिया में वह अपनी बेटी को भर्ती करा पाया. आईसीयू में भर्ती मासूम की 36 घंटे के बाद भी हालत नाजुक स्थिति बनी हुई है. उधर मध्य जिले के स्पेशल स्टाफ और एएटीएस की टीम ने आरोपी को रोहतक जिले के कलानौर से गिरफ्तार किया है. आरोपी की पहचान सूरज पुत्र दिनेश शाह निवासी के-1, रघुबीर नगर के तौर पर हुई है.

बच्ची के सेहत पर सवाल करते ही शनिवार को उसका पिता रो पड़ा. उसने बताया कि शुक्रवार सुबह करीब साढ़े दस बजे पत्नी ने घटना की जानकारी दी थी. जब वह घर के बाहर पहुंचा तो यहां पर भीड़ जमा दिखाई दी. अपनी बेटी की हालत देखकर उसके आखों से आंसू निकल पड़े.  बच्ची खून से लथपथ थी. इस बीच किसी ने घटना की जानकारी पुलिस और एंबुलेंस को दी. बाद में बच्ची को अस्पताल में पहुंचाया गया.

पिता के अनुसार, करीब 11 बजे वह पटेल अस्पताल पहुंचा. वहां बच्ची के पिता से कहा कि बच्ची का इलाज यहां पर नहीं हो पाएगा. इसके लिए उसे लेडी हार्डिंग अस्पताल जाना चाहिए.  इस दौरान उसने बच्ची की पीड़ा को लेकर मिन्नतें मांगी. मगर उसे अनसुना कर दिया गया. थक हारकर वह करीब 12 बजे लेडी हार्डिंग पहुंचा. यहां पर पिता को यह कहकर मना कर दिया कि यहां पर बच्चों का इलाज नहीं होता है. साथ ही कलावती अस्पताल जाने को कहा गया. आगे कलावती पहुंचने पर बच्ची के पिता को कहा गया कि जिस इलाके का यह मामला है  उनका इलाज इस अस्पताल में नहीं होगा. बाद में राम मनोहर लोहिया अस्पताल ले जाने की सलाह दी गई.

दोपहर करीब 1:30 बजे पिता अपनी बच्ची को लेकर राम मनोहर लोहिया अस्पताल पहुंचा था.  यहां पर बच्ची को अस्पताल में भर्ती कर लिया गया। पहले बच्ची की सेहत को स्थिर करने के लिए प्राथमिक इलाज करा गया। बाद में बच्ची का ऑपरेशन करने के बाद रात 11:00 बजे उसे गहन चिकित्सा कक्ष में भेजा गया। यहां पर अभी उसकी हालत स्थिर बताई गई है. बच्ची से दुष्कर्म के मामले में दिल्ली महिला आयोग ने पुलिस को नोटिस जारी किया है. आयोग ने पुलिस से इस मामले में तुरंत कार्रवाई की मांग की है. इसके साथ ही मामले में दर्ज प्राथमिकी का ब्योरा मांगा है.