अहमदाबाद :- गुजरात में लगातार हो रही बारिश से बाढ़ जैसे हालात उत्पन्न हो गए हैं। ऐसे में लोगों की मदद के लिए एनडीआरएफ की टीमें तैनात की गई है। वहीं देवभूमि द्वारका जिले के जामखंभालिया में रविवार शाम से हो रही बारिश की वजह से स्थिति काफी बिगड़ गई है। जामखंभालिया में गांव के निचले इलाकों में पानी भर गया। भारी बारिश की वजह से द्वारका और आसपास के इलाकों में इंटरनेट सेवा भी बाधित हो गई है।

इस बाबत मौसम विभाग के अधिकारी राकेश कुमार ने कहा है कि कच्छ पर बना निम्न दबाव अगले चार-पांच दिनों तक बना रहेगा। इस कारण अगले पांच दिनों तक भारी से बहुत भारी बारिश के आसार हैं। इस दौरान हवा की गति भी 15 से 20 किमी प्रति घंटा तक बढ़ने की उम्मीद है।

मौसम विभाग ने गुजरात के साथ मध्य प्रदेश, ओडिशा और उत्तर प्रदेश के लिए भारी बारिश को लेकर ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। इसके अलावा, गुजरात के कच्छ और सौराष्ट्र में सोमवार को भारी बारिश का रेड अलर्ट रहेगा।

अहमदाबाद के अधिकांश हिस्सों में लगातार बारिश हो रही है। ऐसे में एसजी हाईवे के साथ बोपल, सरखेज, जीवराजपार्क, प्रह्लादनगर, जमालपुर, पालड़ी, आश्रम रोड, रिवरफ्रंट सहित क्षेत्रों में गाड़ियां फंसी हुई हैं।

पिछले 24 घंटों में राज्य के 33 में से 26 जिलों में हल्की से भारी बारिश हुई है। जूनागढ़, देवभूमि द्वारका, गिर-सोमनाथ, राजकोट, जामनगर, अमरेली, पोरबंदर, भावनगर, मोरबी, सुरेन्द्रनगर, कच्छ, वलसाड, नवसारी, सूरत, तापी, नर्मदा, भरूच, डांग, खेड़ा, दाहोद, वडोदरा, छोटाउदेपुर, गांधीनगर , मेहसाणा, अहमदाबाद, अरावली जिले में वर्षा हुई।

वर्तमान में देश में 5 अलग-अलग चक्रवाती परिचलन हैं। इसके अलावा एक मानसून टर्फ अनूपगढ़, सीकर, ग्वालियर, सीधी, रांची, जमशेदपुर से हल्दिया तक फैली है। दूसरी टर्फ दक्षिण गुजरात से कर्नाटक तक फैली हुई है। इसके कारण अगले चार दिनों में गुजरात, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, पूर्वी उत्तर प्रदेश, तटीय आंध्र में भारी बारिश होने का अनुमान हैं।