लखनऊ :- प्रदेश में कोरोना वायरस का प्रसार जारी है। अनलॉक टू में भी मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।राजधानी की किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) के माइक्रोबायोलॉजी विभाग में बुधवार को जांच किये गए 4,046  नमूनों में 127 की रिपोर्ट गुरुवार को पॉजिटिव आई। इनमें मुरादाबाद में 36, लखनऊ में 25, अयोध्या में 22, संभल में 20, हरदोई में 16, बाराबंकी में 05 तथा कुशीनगर, गोण्डा, सुल्तानपुर में एक-एक मरीज शामिल है।

प्रदेश में कई अन्य प्रयोगशालाओं की रिपोर्ट भी कोरोना के नए मामलों की पुष्टि हुई है। संतकबीर नगर के गुरुवार को 326 लोगों की रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 26 लोग संक्रमित पाये गये हैं। इनमें जनपद के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दुग्ध में तैनात एक एएए, इनकी पत्नी व पुत्र और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एक काउंसलर भी शामिल है। कोरोना पॉजिटिव रोगियों की संख्या अब 331 हो गई है।

गोरखपुर मेडिकल काॅलेज से गुरुवार को कुशीनगर से की 11 की रिपोर्ट मिली। इसमें सभी संक्रमित पाये गये हैं। अब जनपद में संक्रमितों की संख्या 210 हो गई है। इसमें नगर के सुभाष चौक के समीप मिठाई के व्यापारी के पहले से संक्रमित परिवार के ही पांच और सदस्य शामिल हैं। इनके परिवार का युवक मुख्य चिकित्सधिकारी कार्यालय में तैनात है। अन्‍य संक्रमितों में कन्‍नौजिया वार्ड निवासी सीएमओ कार्यालय में तैनात, कप्‍तानगंज के रंगड़गज गांव, रामकोला, फाजिलनगर के भागी पट़टी के युवक हैं। मुख्य चिकित्सधिकारी डॉ. एनपी गुप्ता ने बताया कि इनके संपर्क में आए लोगों को चिह्नित कर सूची बनाई जा रही है। स्वास्थ्य विभाग की टीम संबंधित वार्ड व गांवों में भेज दी गई है। बताया कि कोराेना संक्रमित पांच लोगों की मौत हो चुकी है, तो 118 लोग स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं।

इस बीच कोरोना के तेजी से बढ़ते संक्रमण को लेकर सही समय पर इलाज के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जांच क्षमता को बढ़ाकर 35 हजार टेस्ट प्रतिदिन किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि आरटीपीसीआर तथा ट्रूनैट से 35 हजार टेस्ट प्रतिदिन तथा रैपिड एन्टीजन टेस्ट के माध्यम से भी प्रतिदिन भारी मात्रा में टेस्ट किए जाएं। उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक जांच नमूने लेने के लिए आवश्यकतानुसार अतिरिक्त टीमें गठित करते हुए इनके सदस्यों को सैम्पल कलेक्शन का प्रशिक्षण दिया जाए। उन्होंने टेस्टिंग प्रयोगशालाओं के सभी जांच उपकरणों को क्रियाशील रखने के निर्देश भी दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 के प्रसार को रोकने में कोविड हेल्प डेस्क एक मजबूत कड़ी है। इसके दृष्टिगत कोविड हेल्प डेस्क की संख्या में बढ़ोत्तरी किए जाने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि कोविड हेल्प डेस्क का नियमित व सुचारु संचालन सुनिश्चित किया जाए। राज्य में अभी तक 34 हजार से अधिक कोविड हेल्प डेस्क स्थापित की जा चुकी हैं।

वहीं मुख्यमंत्री के निर्देश पर प्रदेश में तीन दिवसीय विशेष स्वच्छता अभियान कल 10 जुलाई से संचालित होगा। यह अभियान ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्रों में चलाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा है कि नगर विकास विभाग, ग्राम्य विकास विभाग तथा पंचायतीराज विभाग सहित अन्य विभागों एवं संस्थाओं द्वारा पूर्ण समन्वय के साथ यह अभियान संचालित किया जाए। जिला प्रभारी इसका निरीक्षण करेंगे। उन्होंने विशेष स्वच्छता अभियान में शारीरिक दूरी का खास ध्यान रखने के निर्देश दिए।