कानपुर :- उज्जैन से कानपुर लाते समय पांच लाख रुपये का इनामी विकास दुबे यूपी एसटीएफ की कार पलटने के बाद भागने के दौरान शुक्रवार तड़के मुठभेड़ में मारा गया। एसपी वेस्ट डॉ. अनिल कुमार ने विकास दुबे के मारे जाने की पुष्टि कर दी है।

यूपी एसटीएफ के काफिले की वही कार बर्रा थाना क्षेत्र के हाइ-वे के पास पलटी है जिसमें विकास दुबे था। इस दुर्घटना में कुछ एसटीएफ कर्मी घायल हुये है, जिन्हें इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। चश्मदीद गवाह आशीष ने बताया कि कार पलटने के बाद विकास दुबे को लेकर पुलिस निकल गयी थी लेकिन थोड़ी दूर के बाद कई राउंंड गोली चलने की आवाज सुनाई दी है।

मध्य प्रदेश के उज्जैन महाकाल मन्दिर से कानपुर के मोस्ट वांटेड ​विकास दुबे को गुरुवार को पुलिस ने पकड़ा गया था। यह भी कहा जा रहा है कि उसने सुनियोजित तरीके से समर्पण किया है। बहरहाल विकास दुबे को पुलिस ट्रेनिंग सेंटर में पूछताछ के बाद यूपी एसटीएफ के हवाले किया गया था। पहले उसे चार्टर्ड प्लेन से लाए जाने की योजना थी लेकिन बाद में एसटीएफ टीम 12 गाड़ियों के काफिले के साथ सीधे कानपुर लेकर आ रही थी। बर्रा थाना क्षेत्र के हाई-वे पर यूपी एसटीएफ की वही कार पलट गयी जिसमें विकास दुबे था।

एसपी वेस्ट डॉ. अनिल कुमार ने बताया कि  कार पलटने के बाद विकास दुबे भागने लगा था। उसे पकड़ने के लिए यूपी एसटीएफ ने कॉम्बिंग की और आत्मसमर्पण के लिए कहा लेकिन उसने पुलिस पर फायरिंग कर दी। उन्होंने बताया कि जवाब में एसटीएफ ने भी गोली चलाई जिसमें विकास दुबे घायल हो गया। उसे हैलट अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने विकास दुबे को मृत घोषित कर दिया।