रायबरेली (NNI Live) :- कोरोना की लगातार बढ़ती रफ़्तार ने लोगों को दहशत में ला दिया है। अब मुख्य बाजारों, सरकारी कार्यालय सहित पुलिस लाइन तक कोरोना की पहुंच हो रही है। केवल 48 घंटे में ही 50 से ज्यादा मरीज़ मिलने और एक की मौत ने सबको सचेत कर दिया है। अभी तक इसको लेकर बेपरवाह बने लोग अब अपने को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं।

दरअसल रायबरेली में कोरोना के बढ़ने की गति सामान्य थी और अन्य जिलों की अपेक्षा यहां संक्रमित मरीज़ की काफी कम थे लेकिन अचानक प्रतिदिन संक्रमितों की बढ़ती संख्या ने स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन को परेशानी में डाल दिया है। चिंता की बात यह भी है कि अब मिलने वाले संक्रमितों में ज्यादातर ऐसे हैं जो या तो व्यापारी हैं या सरकारी कर्मचारी जिनके पास मिलने आने वालों की अच्छी खासी संख्या होती है। पुलिस कर्मियों और एक बीडीओ के भी संक्रमित पाये जाने से चिंता और बढ़ गई है। अब हालात यह हैं कि शहर के मुख्य बाजार कैपरगंज, विकास भवन सहित पुलिस लाइन को कैंटोनमेंट जॉन बना दिया गया है।

लालगंज की भी सर्राफा मंडी भी कोरोना के कारण सील हो चुकी है। जिले के मुख्य सरकारी कार्यालयों का केंद्र विकास भवन को एक कर्मचारी के संक्रमित होने के कारण सील किया गया है, जबकि पुलिस लाइन में छह पुलिस कर्मी संक्रमित होने से पूरा परिसर ही जोखिम क्षेत्र बनाया गया है। शहर के मुख्य बाजार कैपरगंज में भी एक सर्राफा व्यवसायी के कोरोना संक्रमित होने से पूरा बाजार बंद किया गया है। ये सब बेहद महत्वपूर्ण जगहें हैं जहां लोगों का अच्छी खासी संख्या में आना जाना लगा रहता है। इससे जहां लोगों का काम बंद हो गया हैं, वहीं बड़ी संख्या में लोगों के इनके सम्पर्क में आने की आशंका भी बढ़ गई है।

इंदिरा नगर निवासी एक तकनीकी सहायक की कोरोना से हुई मौत से भी लोगों में दहशत है। हालांकि प्रशासन द्वारा सभी संक्रमित मरीज़ों के प्रथम और द्वितीय संपर्कों को तलाश कर जांच की जा रही है। बावजूद इसके अब कोरोना को लेकर लोगों की चिंता बढ़ने लगी है। अभी तक कोरोना को लेकर बेपरवाह लोगों ने अब इसके खतरे को समझना शुरू कर दिया है। जिले में अब तक कुल कोरोना संक्रमित 245 मरीज़ हैं, जिनमे 162 स्वस्थ होकर अपने घरों को जा चुके हैं। सक्रिय केस 76 हैं। कोरोना से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से कई टीमों को गठित किया गया है जो घर घर जाकर सर्वे करेगी और लक्षण पाये जाने पर उनकी जांच कराई जाएगी ।इस काम को तेजी करने के प्रयास किये जा रहे।