बेंगलुरु :- भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने गुरुवार को निजी कंपनियों के लिए अंतरिक्ष क्षेत्र को खोल दिया है। इसरो प्रमुख के. सीवन ने यहां पत्रकार सम्मेलन में यह जानकारी देते हुए कहा कि भारत उन्नत अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी वाले देशों में से एक है।

उन्होंने कहा कि सरकार ने इस क्षेत्र को निजी कंपनियों के लिए खोलने से इसरो के लिए सुधार उपायों को लागू करने सम्बन्धी फैसला लिया है। अंतरिक्ष क्षेत्र को खोले जाने से इसका उपयोग अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी से फायदे के लिए किया जा सकता है। प्रौद्योगिकी क्षेत्र में बड़े पैमाने पर रोजगार और देश के एक वैश्विक तकनीकी पावरहाउस बनने का मौका है।

के. सीवन ने कहा कि सरकार ने अंतरिक्ष क्षेत्र में निजी कंपनियों की गतिविधियों को अनुमति देने तथा विनियमित करने के संबंध में निर्णय लेने के लिए एक स्वायत्त नोडल एजेंसी की स्थापना की मंजूरी दी है। उन्होंने कहा कि अंतरिक्ष विभाग रॉकेट और उपग्रहों के निर्माण और प्रक्षेपण संबंधी सेवाएं प्रदान करने समेत अंतरिक्ष गतिविधियों को बढ़ावा देगा।