अयोध्या :- खुद को सूर्यवंशी मुसलमान मानने वाले राष्ट्रवादी आजम खान ने अयोध्या पहुंचकर एक प्रतिज्ञा ली है। उनका कहना है कि अगर 5 अगस्त को प्रधानमंत्री के भूमि पूजन कार्यक्रम में उनको नहीं आमंत्रित किया गया तो वे उसी दिन सरयू में जल समाधि ले लेंगे। उनका मानना है कि उन्होंने राम मंदिर निर्माण के लिए आंदोलन किया है वह भगवान राम को मानने वाले हैं वे भी भगवान राम के भक्त हैं।

राष्ट्रवादी आजम खान

भगवान राम को किसी धर्म या जाति में नहीं बांधा जा सकता इसलिए इस पुण्य काम में वह भी शामिल होकर राम मंदिर भूमि पूजन का साक्षी बनना चाहते हैं। अयोध्या पहुंचे राष्ट्रवादी आजम खान ने कहा कि भगवान राम को ही अपना आराध्य मानते हैं जिस तरह से भगवान राम व लक्ष्मण इसी सरयू में जल समाधि ली थी उसी तरह से वह भी जल समाधि ले लेंगे।अयोध्या पहुंचकर राष्ट्रवादी आजम खान ने राम लला का दर्शन किया व राम मंदिर आंदोलन के पुरोधा रहे स्वर्गीय महंत रामचंद्र दास परमहंस की समाधि पर श्रद्धांजलि भी दी। राष्ट्रवादी आजम खान लखनऊ से अयोध्या पहुंचे थे।

दरअसल 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या पहुंचकर राम मंदिर की आधारशिला रखेंगे। राम मंदिर की आधारशिला व भूमि पूजन के कार्यक्रम में राम मंदिर आंदोलन से जुड़े सभी लोग इस पुण्य मौके पर शामिल होना चाहते हैं लेकिन कोरोना काल को देखते हुए ट्रस्ट बहुत कम ही लोगों को आमंत्रित कर रहा है।