नहर से पानी छोड़ा, शारदा नाले का निर्माण रुका

एनएनआई
विशाल अग्रवाल (फैजाबाद) : मवई के बहुचर्चित झरना नाले का निर्माण एक बार फिर बंद हो गया है। सोमवार को इसकी सूचना मिलते ही विधायक रामचंद्र यादव व उपजिलाधिकारी गिरजेश कुमार चौधरी मौके पर पहुंचे। उन्होंने काम बंद होने का कारण पूछा तो पता चला कि शारदा सहायक नहर से झरना नाले में पानी छोड़ दिया गया है।

विधायक ने बाराबंकी नहर विभाग के अधिशासी अभियंता और डीएम से फोन पर वार्ता कर पानी को बंद कराने की मांग की। उन्होंने कहा कि पानी को झरना नाले में छोड़ने का कोई औचित्य नहीं है। यही पानी अगर नहर में छोड़ा जाए तो किसान अपनी फसलों की सिंचाई कर सकेंगे।

झरना नाला सियासत के केंद्र बिंदु शुरू से रहा है। 32 वर्ष पहले झरना नाला का शिलान्यास हुआ था। अभी तक उसका निर्माण कार्य पूरा नहीं हो पाया है। पिछले वर्ष विधायक ने सदन में यह मुद्दा उठाया और दो दिन यहां पर धरना-प्रदर्शन किया था। तब जाकर निर्माण शुरू हुआ। झरना नाला पुल निर्माण होने से मवई ब्लॉक की दो दर्जन से अधिक ग्राम पंचायतें सीधे ब्लॉक व थाने से जुड़ जाएंगी। पुल न होने से ग्रामीणों को लगभग दस किमी का अतिरिक्त चक्कर काटना पड़ता है। सोमवार को ग्रामीणों से झरना नाले का निर्माण बंद होने की जानकारी पाते ही वह एसडीएम के साथ मौके पर पहुंचे। एसडीएम गिरजेश कुमार चौधरी ने बताया कि मौके पर गया था। अधिशासी अभियंता को पत्र लिखा जा रहा है। अति शीघ्र निर्माण फिर शुरू करा दिया जाएगा। निर्माण सामग्री यहां पर एकत्र है। पानी आने से ही इसे बंद करना पड़ा है।

प्रेस रिपोर्टर - विशाल अग्रवाल
एनएनआई
फैज़ाबाद
8090000703