राष्ट्रपति चुनाव में NDA CANDIDATE पर अभी संशय , जल्द ही जारी होंगे

एनएनआई नई दिल्ली--   राष्ट्रपति पद के चुनाव में एनडीए उम्मीदवार के नाम पर फैसला के लिए बीजेपी संसदीय बोर्ड की अहम बैठक में करीब एक घंटे तक मंथन चलता रहा।  दिल्ली के बीजेपी मुख्यालय में हुई बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी प्रमुख अमित शाह के अलावा सुषमा स्वराज, वेंकैया नायडू, अनंत सिंह और थावर चंद गहलोत जैसे वरिष्ठ नेता भी शामिल हुए. वहीं सूत्रों के मुताबिक, बैठक में राष्ट्रपति उम्मीदवार का फैसला अमित शाह पर छोड़ा गया है।

बताया जा रहा है कि पार्टी में इस बात को लेकर रजामंदी बनी है कि किसी सक्रिय राजनीतिक हस्ती को ही देश के इस सर्वोच्च पद पर काबिज होना चाहिए। वहीं भारतीय जनता पार्टी ने अपने सभी सांसदों व विधायकों को दिल्ली बुलाया है। बताया जा रहा है भाजपा ने अपने सभी सांसदों और विधायकों को राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के नामांकन पर हस्ताक्षर करने के लिए आमंत्रण भेजा है।

वहीं रविवार को शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि हमने सहयोगियों और विपक्षी पार्टियों से विस्तृत चर्चा की है। अब संसदीय बोर्ड संभावित नामों पर विचार करेगा और अगले कुछ दिन में फैसले का ऐलान कर दिया जाएगा।

राष्ट्रपति चुनाव पर एनडीए उम्मीदवार के लिए समर्थन जुटाने में लगी भाजपा के मंत्रियों की टीम ने रविवार को तृणमूल कांग्रेस, सपा, लोजपा और बीजद समेत कई पार्टियों से बात की। इस चर्चा के दौरान समाजवादी पार्टी ने जहां राजनीतिक व्यक्ति को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाने की राय जाहिर की। वहीं लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान ने कहा कि उनकी पार्टी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैसले का समर्थन करेगी।

 

पीएम मोदी के विदेश दौरे से पहले दाखिल होगा नामांकन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 24 जून को अमेरिका दौरे पर रवाना होना है और इसलिए एनडीए की पीएम के विदेश दौरे से पहले राष्ट्रपति उम्मीदवार का नामांकन दाखिल कराने की पूरी तैयारी है। इसके लिए भाजपा और सहयोगी दलों की ओर से नामांकन पत्र का सेट भी तैयार किया जा रहा है। बताया जाता है कि एनडीए राष्ट्रपति उम्मीदवार के नामांकन के एक सेट पर प्रधानमंत्री समेत तमाम केंद्रीय मंत्रियों और सहयोगी दलों के नेता प्रस्तावक और अनुमोदक के रुप में हस्ताक्षर करेंगे। गौरतलब है कि राष्ट्रपति पद का नामांकन दाखिल करने के लिए 50 सांसदों या विधायकों के प्रस्तावक और इतने ही अनुमोदक के रुप में हस्ताक्षर की जरूरत होती है। इस बीच खबर है कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को मतभेद भुलाकर साथ आने के लिए राजी कर लिया। इसके साथ ही उद्धव को यह भरोसा भी दिया कि किसी भी कैंडिडेट का नाम फाइनल करने से पहले एनडीए के सभी घटक दलों से राय ली जाएगी। दरअसल राष्ट्रपति चुनाव के लिए चार नामांकन पत्र दाखिल होंगे। इन सभी में कुल 480 सांसद, विधायक हस्ताक्षर करेंगे।